सिवान: ट्रेन पकड़ने जा रहे दुलारचंद को लुटेरों ने घोंपा था चाकू

0
  • शेख मुहल्ला निवासी लौतिफ आलम की हुई है गिरफ्तारी
  • सोमवार की सुबह स्टेशन रोड में हुई थी दुलारचंद की हत्या

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के नगर थाना क्षेत्र के स्टेशन रोड में रिलाइन्स डिजिटल के समीप सोमवार की सुबह दुलारचंद की चाकू घोंपकर हत्या मामले में पुलिस को सफलता हाथ लगी है। मिले एक अहम सुराग के आधार पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए हत्या में शामिल एक बदमाश को गिरफ्तार कर लिया है। नवलपुर करबला के पास से मंगलवार के दोपहर को गिरफ्तार बदमाश नगर थाना क्षेत्र के शेख मुहल्ला निवासी असफाक आलम शेख का 21 वर्षीय पुत्र लौतिफ आलम है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पूछताछ में उसने पुलिस को बताया है कि मंशा दुलारचंद की हत्या नहीं बल्कि उसके साथ लूटपाट की थी। बताया कि लूटपाट का विरोध करने के दौरान चाकू घोंप देने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया जिससे उसकी मौत हो गयी। इस घटना को अंजाम देते समय उसके कई साथी भी उसके साथ मौजूद थे। जिनका नाम पता उसने पुलिस को बताया है। इधर पुलिस सभी को गिरफ्तार करने को लेकर उनके संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
metra hospital

मुखबिर ने दी घटना में लौतिफ के शामिल होने की सूचना

दुलारचंद हत्या मामला प्रथम दृष्टया तो लूटपाट का माना जा रहा था। लेकिन इसे लूटपाट कहना इतना आसान नहीं था। कारण था कि हत्या कर बदमाश एक मोबाइल फोन को अपने साथ लेते गए थे जबकि बैग में पड़े दो मोबाइल फोन छोड़ दिए थे। इतना ही नहीं शव के पास से ही दुलारचंद का बैग भी बरामद किया गया था। बताया जाता है कि उसके जेब में पड़े रुपये भी सही सलामत थे। वहीं सूत्रों की मानें तो एक मुखबिर ने इस घटना का राज खोल दिया। उसने पुलिस को बताया कि इस घटना में नवलपुर कर्बला निवासी लौतिफ भी शामिल है। जिसका वर्तमान पता इन दिनों छपरा है।

बड़हरिया के अठखंभा का रहने वाला था दुलारचंद

ट्रेन पकड़ने जा रहे दुलारचंद को सोमवार की अहले सुबह बदमाशों ने चाकू घोंपकर हत्या कर थी। दुलारचंद बड़हरिया थाना क्षेत्र के अठखंभा का रहने वाला था। करबला बाजार से ऑटो पर सवार होकर वह बबुनिया मोड़ तक पहुंचा था और उसके बाद स्टेशन के लिए पैदल ही जा रहा था। जैसे ही वह रिलांयस डिजिटल के पास पहुंचा बेखौफ अपराधियों ने उसकी हत्या कर दी थी।