सिवान: पूरे जिले में पारंपरिक रूप से धूमधाम से मना दीपों का पर्व

0

परवेज अख्तर/सिवान: शहर में दीपों का पर्व दीपावली गुरुवार को पारंपरिक रूप से धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान पूरा शहर रंग-बिरंगी झिलमिल रौशनी से जगमगाता रहा। शाम होते ही पूरा शहर रौशनी से नहा उठा। देर रात तक आतिशबाजी होती रही। लोगों ने अपने घरों व प्रतिष्ठानों को दीपों व झालरों से सजाया था।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

diwali anand

दीपावली के शुभ अवसर पर रंग-बिरंगे रंगों से घरों व दरवाजे पर रंगोलियां बनाई थी। इस दौरान मंदिरों व घरों की बेहतरीन सजावट देखते ही बन रही थी। संध्या में शुभ मुहुर्त में व्यापारियों ने जहां अपने-अपने दुकानों में मां लक्ष्मी व लंबोदर गणेश की पूजा-अर्चना की, वहीं आमजन से अपने-अपने घर आंगन में।

dukan diwali

पूजा के समापन पर विधिवत रूप से आरती कर प्रसाद का वितरण किया गया। लोगों ने अपने रिश्तेदारों व मित्रमंडली के यहां मिठाई बांटकर एक-दूसरे को दीपावली की शुभकामनाएं दी। फेसबुक, व्हाट्सएप व मैसेंजर-ट्विटर पर अपने शुभचिंतकों को शुभकामना संदेश देने की होड़ मची रही।

diwali sajawat

बहरहाल, शाम ढलते ही महिलाएं व युवतियां अपने-अपने घरों में दिए जलाना शुरू कर दी थी। लक्ष्मी पूजन के बाद दीपक जलाने व पटाखे फोड़ने का सिलसिला देर रात तक चलता रहा। पटाखा फोड़ने में बच्चे व नौजवान ही नहीं बल्कि युवतियां भी काफी आगे रहीं। अनार, सुतली बम, रॉकेट, पेंसिल, घिरनईया आदि पटाखे देर रात तक फूटने के साथ ही अपनी रौशनी से आसमान को जगमग करते रहे। देर रात तक लोग आतिशबाजी का आनंद लेते रहे। इधर, दीपावली को लेकर पूरे दिन बाजार में भीड़-भाड़ बनी रही।

diwai

लक्ष्मी गणेश की मूर्ति, मिठाई व आतिशबाजी की खरीदारी के लिए दिनभर दुकानों में लोग पहुंचते रहे। शहर के पटाखा बाजार में पटाखा व सजावट के समान खरीदने के लिए सुबह से ही भीड़ जुटने लगी थी। हर तरह के सामान की खरीदारी के लिए बाजार में दिन भर तांता लगा रहा। शहर के शांतिवट वृक्ष से लेकर थाना मोड़ व अस्पताल मोड़ से लेकर श्रीनगर मोड़ तक देर शाम तक भीड़-भाड़ बाजार में बनी हुई थी।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here