सिवान: महुआरी पंचायत के पूर्व पैक्स अध्यक्ष पर अपराधियों ने हथियार से हमला कर लुटे 60 हजार नगद

0
  • ग्रामीणों की सतर्कता से गोली खाने से बाल बाल बचे पूर्व पैक्स अध्यक्ष
  • घायल अवस्था में सदर अस्पताल में इलाज जारी

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के महादेवा ओपी थाना क्षेत्र के बभनौली मोड़ से बुधवार की देर संध्या शातिर अपराधियों ने पचरुखी प्रखंड के महुआरी पंचायत के पूर्व पैक्स अध्यक्ष प्रमोद यादव पर हथियार का भय दिखाकर 60 हजार नगद रुपया लूट लिया. वहीं घटना को अंजाम देने के बाद जैसे ही अपराधी पूर्व पैक्स अध्यक्ष प्रमोद यादव को गोली मार मौत के घाट उतारने का प्रयास कर रहे थे की तब तक ग्रामीणों की सतर्कता से उनकी जान जाते-जाते बच गई. अपराधियों ने घटना को अंजाम देने में विफल होने पर हथियार के बट से वार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया. आनन-फानन में परिजनों ने उन्हें प्राथमिक उपचार के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया. जहां चिकित्सकों के द्वारा घायल का इलाज शुरू किया गया. देखते ही देखते घटना को लेकर पूरा सदर अस्पताल ग्रामीणों के हुजूम से उमड़ पड़ा. उधर सूचना मिलते ही स्थानीय सदर राजद विधायक अवध बिहारी चौधरी समेत कई गणमान्य व जनप्रतिनिधि घायल पूर्व पैक्स अध्यक्ष से मिलने के लिए अस्पताल पहुंचे.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

पूर्व पैक्स अध्यक्ष प्रमोद यादव के माथे पर हथियार के बट से चोट लगने के कारण उनकी स्थिति गंभीर बताई जा रही है. बताते चले कि घायल प्रमोद यादव 2009 में महुआरी पंचायत के उप मुखिया भी रह चुके हैं तथा 2019 में वे पंचायत के पैक्स अध्यक्ष के पद पर काबिज थे. घटना के संबंध में पीड़ित पूर्व पैक्स अध्यक्ष प्रमोद यादव ने बताया कि लगातार कई दिनों से मेरे ही पंचायत के अतरसुआ का रहने वाला बबलू मिसकार कई दिनों से मुझे जान मारने की धमकी दे रहा था कि इसी बीच बुधवार की देर संध्या अपने अन्य साथियों के साथ आया और जैसे ही मैं अपनी हार्डवेयर का दुकान बंद कर घर लौट रहा था कि इसी बीच मुझे रास्ते में घेर लिया और मुझे हथियार से जान मारने का प्रयास किया. लेकिन ग्रामीणों की जागरूकता से मेरी जान जाते-जाते बच गई. घटना को अंजाम देने में विफल होने पर अपराधियों ने मुझे हथियार के बट से मार गंभीर रूप से घायल कर दिया. उधर घायल पैक्स अध्यक्ष प्रमोद यादव के फर्द बयान के आधार पर गुरुवार को महादेवा ओपी पुलिस ने घटना को अंजाम देने वालों के घर छापेमारी की. लेकिन पुलिस को कोई कामयाबी हासिल नहीं हुई.