सिवान: ग्रामीण क्षेत्रों में मां दुर्गा की प्रतिमाओं का हुआ विसर्जन, झाकियां रही आकर्षण का केंद्र

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के रघुनाथपुर, बड़हरिया व आंदर में शनिवार को नम आंखों से मां दुर्गा समेत अन्य देवी-देवताओं की प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। इसके पूर्व पूजा स्थल पर पूजा व आरती किया गया तथा श्रद्धालुओं के बीच प्रसाद का वितरण किया गया। मौके पर महिलाओं ने मां को खोइंचा भर सुख समृद्धि की कामना की तथा अगले साल आने का आमंत्रण भी दिया। प्रतिमा विसर्जन के दौरान आकर्षक झांकियां भी निकाली गईं। इस मौके पर मां के जयकार एवं बैंड बाजे की धुन से वातावरण गूंज उठा। जानकारी के अनुसार रघुनाथपुर प्रखंड के मुरारपट्टी गांव में शनिवार को मां दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन के दौरान कई झांकियां निकाली गईं जो आकर्षण का केंद्र रही। इसे देखने के लिए दूर-दराज से लोग पहुंचे हुए थे। दुर्गा पूजा समिति द्वारा सामाजिक, धार्मिक, हास्य संंबंधित कई झाकियां आकर्षण का केंद्र रही। इसमें रामायण एवं महाभारत पात्र से संंबंधित कई झांकियां भी निकाली गई थी जिसे दर्शकों ने खूब सराहा। झांकी मुरारपट्टी गांव से आरंभ होकर रघुनाथपुर होते हुए राजपुर मोड़ पर पहुंच कर संपन्न हो गई। सुरक्षा व्यवस्था को ले स्थानीय व जिला से आई काफी संख्या में पुलिस बल फ्लैग मार्च किए।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

शांति व्यवस्था को ले सीओ अशोक कुमार, बीडीओ अशोक कुमार, थानाध्यक्ष मो. तनवीर आलम सहित काफी संख्या में पुलिस बल मौजूद थी। वहीं दूसरी ओर बड़हरिया पुरानी बाजार, जामो चौक, थाना चौक, कचहरी चौक, तेतहली बाजार, कोइरीगांवा, कुवही, कुड़वां सहित अन्य गावों में बने मां दुर्गा सहित अन्य देवी-देवताओं की प्रतिमा का विसर्जन मुख्यालय स्थित यमुनागढ़ स्थित तालाब में किया गया। वहीं लकड़ी दरगाह में बने मां दुर्गा की प्रतिमा का विसर्जन बदरजीमी स्थित दाहा नदी में किया गया। विसर्जन जुलूस में श्रद्धालुओं ने जय माता दी के नारे लगाए। सुरक्षा व्यवस्था के लिए काफी संख्या में पुलिस बल की तैनाती हुई थी। विसर्जन की निगरानी सीसी कैमरा के माध्यम से की जा रही थी। इसके लिए विभिन्न जगहों पर सीसीटीवी लगाए गए थे। इस मौके पर काफी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे। वहीं आंदर स्थित दाहा नदी मुख्यालय स्थित विभिन्न पंडालों में स्थापित मां की प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया।