सिवान: लोगों को अपने घरों पर ही छठ पर्व मनाने के लिए करें प्रेरित

0
  • प्रमुख घाटों पर मजिस्ट्रेट व पुलिसबल के साथ नाव, नाविक व गोताखोर तैनात
  • खतरनाक घाटों का करें बैरिकेडिंग, जलजमाव वाले जगह पर लगेगा लाल झंडा

परवेज अख्तर/सिवान: कलेक्ट्रेट के सभागार में जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक शनिवार को हुई। बैठक में शांति समिति के सदस्यों ने अपने-अपने घरों में छठ पूजा करने की बात कही, साथ ही कहा कि कोरोना के मद्देनजर शहरवासियों को भी घरों में ही छठ पर्व मनाने के प्रति जागरूक करेंगे। हालांकि इसके बावजूद जिला प्रशासन की ओर से सभी छठ घाटों पर प्रशासनिक तैयारियां रहेंगी। प्रमुख घाटों पर मजिस्ट्रेट व पुलिसबल की तैनाती के साथ ही नाव, नाविक व गोताखोर तैनात किए जायेंगे। वहीं छठ घाटों पर निजी नावों का परिचालन बंद रहेगा। छठ घाटों पर पटाखा की बिक्री को प्रतिबंधित करते हुए सीओ व थानाध्यक्ष को इसका अनुपालन सुनिश्चि कराने का निर्देश दिया गया। आपदा प्रभारी को एसडीआरएफ की टीम की व्यवस्था करने को कहा गया जिसमें बोट, गोताखोर, नाविक व महाजाल शामिल हो। इधर, जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक कर रहे डीएम अमित कुमार पांडेय ने लोगों को घरों पर ही छठ पर्व मनाने के लिए प्रेरित करने पर जोर दिया। कहा कि खतरनाक घाटों को चिन्हित कर वहां पर बैरिकेडिंग किया जाए।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

नगर परिषद के ईओ को डीएम ने खतरनाक धाटों पर बैरिकेडिंग कराने व अधिक जलजमाव से पहले वहां पर बल्ला के उपर लाल झंडा लगाने का निर्देश दिया। ईओ को नगर परिषद की सभी घाटों की सफाई समय से कराने व कचरे का उठाव सुबह में ही करने का निर्देश दिया गया। वहीं सदर एसडीओ को पदधारकों, वोलेंटियर व सदस्यों को परिचय पत्र जारी करने का निर्देश दिया। कहा कि कचहरी स्टेशन के समीप छठ घाट बनाया जाता है। इसे देखते हुए सदर एसडीओ स्टेशन मास्टर को इस संदर्भ निर्देश दें कि ट्रेनों की गति को अपेक्षित रूप से कम रखते हुए हॉन का उपयोग निश्चित रूप से किया जाए। बैठक में एसपी अभिनव कुमार, एडीएम रमण कुमार सिन्हा, सदर एसडीओ रामबाबू बैठा, ईओ राहुलधर दुबे, बीजेपी जिलाध्यक्ष संजय पांडेय, अनुराधा गुप्ता, सुधीर जायसवाल, रामवतार प्रसाद, प्रो. एसरार अहमद, इंतखाब अहमद, देवेन्द्र गुप्ता, राजेन्द्र गुप्ता, अमरेन्द्र कुमार राजन, संजीव प्रकाश, सदर सीओ ज्ञान प्रकाश श्रीवास्तव, टाउन इंस्पेक्टर जयप्रकाश पंडित, महादेवा, ओपी व सराय थानाध्यक्ष समेत अन्य मौजूद थे।