सिवान के तरवारा में बेखौफ अपराधियों ने राजस्व कर्मचारी को मारी गोली, पीएमसीएच रेफर

0
goli
  • स्थिति खतरे से बाहर
  • पीठ की हड्डी में फंसी गोली
  • गोली कांड मामले में अब तक किसी ने एफआईआर नहीं दर्ज कराई है

परवेज अख्तर/सिवान:- जिले के पचरुखी प्रखंड के भरतपूरा व सहलौर पंचायत के प्रभार में कार्यरत राजस्व कर्मचारी को शुक्रवार की देर शाम बाइक सवार बेखौफ अपराधियों ने गोली मार घायल कर दिया। गोली लगने के बाद राजस्व कर्मचारी बेहोश होने के बाद सड़क पर गिर गए। इसके बाद अपराधी हवा में हथियार लहराते हुए फरार हो गए। राजस्व कर्मचारी को सड़क पर गिरकर छटपटाते देख आसपास के लोग घटनास्थल पर पहुंच गए। इसके बाद लोगों ने इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया जहां डॉक्टरों ने स्थिति को गंभीर देखते हुए पीएमसीएच रेफर कर दिया।फिलहाल राजस्व कर्मचारी की स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

घटना के बाद परिजनों में मायूसी छाई हुई है। घटना के 24 घंटा बीत जाने के बाद भी किसी भी अपराधी की गिरफ्तारी नहीं होने से अहिरनी गांव के लोगों में पुलिस के प्रति नाराजगी है।घायल राजस्व कर्मचारी के भाई कृष्णा सिन्हा ने बताया कि राजस्व कर्मचारी दिलीप कुमार सिन्हा वीएमएचई हाईस्कूल में बने क्वॉरेंटाइन वार्ड में ड्यूटी पर तैनात हैं।क्वॉरेंटाइन वार्ड से ड्यूटी करनी के बाद घर लौट रहे थे। इसी बीच सलारगंज आरा मशीन के समीप बाइक सवार अपराधियों ने ओवरटेक कर उन्हें रोक दिया। इसके बाद गाली गलौज करने लगे।

जिसका विरोध करने पर अपराधियों द्वारा फायरिंग की जाने लगी। इस दौरान गोली लगने से राजस्व कर्मचारी गंभीर रूप से घायल हो गए। घायल राजस्व कर्मचारी की दाहिने बगल पीठ में गोली लगी है। डॉक्टरों के अनुसार गोली पीठ की हड्डी में जाकर फंस गयी है। गोली पीठ में लगने से राजस्व कर्मचारी के शरीर से अत्याधिक खून गिर गया है। जिससे शरीर कमजोर होने की वजह से ऐम्स के डॉक्टरों की टीम द्वारा रविवार को पीठ की हड्डी से गोली निकालने के लिए ऑपरेशन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस संबंध में थाने में आवेदन नहीं दिया गया है।

राजस्व कर्मचारी के होश में आने के बाद अपराधियों के खिलाफ एफआईआर की जाएगी। राजस्वा करमचारी दिलीप कुमार सिन्हा को तीन पुत्र तथा एक बेटी है। तीनों बेटे बेंगलुरु में पढ़ाई करते हैं वही बेटी सिविल सर्विस की तैयारी पटना में करती है। लॉक डाउन के बाद से फिलहाल सभी घर पर आए हुए हैं। इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि घटना के कारणों का अबतक पता नहीं लगने से अपराधियों का ट्रेस नहीं मिल रहा है। इस संबंध में किसी ने थाने में एफआईआर के लिए आवेदन नहीं दिया है। पुलिस अपराधियों की गतिविधि पर नजर रख रही है जल्द ही अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा फ़िलहाल राजस्व कर्मचारी के घर पर पुलिस बल की तैनाती कर दी गयी है।