सिवान: शिक्षा विभाग की मासिक समीक्षात्मक बैठक में दिए गए कई महत्वपूर्ण निर्देश

0
baithak

परवेज अख्तर/सिवान: जिला समाहरणालय सभागार में सोमवार काे शिक्षा विभाग की मासिक समीक्षात्मक बैठक हुई। जिलाधिकारी अमित कुमार पांडेय के निर्देश पर बैठक की अध्यक्षता जिला शिक्षा पदाधिकारी मिथिलेश कुमार ने की। इस दौरान कई महत्वपूर्ण निर्देश दिए गए। डीईओ ने जिले के बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए नवाचारी और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करते हुए जिले में बेहतर शैक्षणिक वातावरण तैयार करने कहा। बैठक की शुरुआत में विद्यालय विकास योजना अंतर्गत विद्यालय के सुदृढ़करण के लिए 237 विद्यालयों द्वारा अभी तक शून्य राशि खर्च करने को लेकर नाराजगी व्यक्त करते हुए 15 फरवरी तक शत-प्रतिशत राशि का व्यय सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया। डीईओ ने बताया कि योजनान्तर्गत कुल 2281 यूनिट प्रति विद्यालय के लिए ड्राविंग लिमिट सेट किया गया था।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

इसमें 2044 विद्यालयों द्वारा राशि खर्च की गई है। जिले के सभी स्कूलों में विद्यालय विकास अनुदान फंड से रंगाई-पुताई कराने, शौचालयों की नियमित साफ-सफाई कराने तथा शिक्षकों को निर्धारित समयावधि में नियमित उपस्थित रहने के निर्देश देते हुए निर्धारित समय पर स्कूलों में अनुपस्थित पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी। कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में शत प्रतिशत नामांकन करवाने का निर्देश दिया गया। वहीं शत प्रतिशत नामांकन नहीं कराने वाले प्रखंड बसंतपुर, भगवानपुर हाट, दरौली, दारौंदा एवं मैरवा के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को अगली बैठक तक शत-प्रतिशत नामांकन कराने व विद्यालय में ठहराव सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। लक्ष्य से कम विद्यालयों का निरीक्षण करने वाले प्रखंड बड़हरिया, बसंतपुर, दरौली, दारौंदा, गुठनी, लकड़ीनबीगंज, महाराजगंज, रघुनाथपुर, सिवान सदर एवं जीरादेई के बीईओ को लक्ष्य अनुरुप यानी कम से कम 25 विद्यालय का निरीक्षण करने का निर्देश दिया गया।

साथ ही शून्य निरीक्षण करने वाले भगवानपुर हाट व सिसवन के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी के विरुद्ध लापरवाही बरतने पर कार्रवाई की बात कही गई। सभी प्रधानाध्यापकों व प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया कि यदि किसी विद्यालय में अनुश्रवण तिथि को 60 प्रतिशत से कम उपस्थिति पाई जाती है तो विद्यालय प्राचार्य व शिक्षकों द्वारा अनुपस्थित छात्र-छात्रा के अभिभावक से व्यक्तिगत रूप से संपर्क स्थापित कर उपस्थिति सुनिश्चित कराई जाए। साथ ही प्राचार्य, शिक्षक, शिक्षिका द्वारा विद्यालय शिक्षा समिति व विद्यालय प्रबंध समिति की सहायता प्राप्त कर छात्र-छात्रा की उपस्थिति में अपेक्षित वृद्धि सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया। समीक्षा बैठक में डीपीओ स्थापना अवधेश कुमार, समग्र शिक्षा के डीपीओ अशोक पांडेय, राजेंद्र सिंह, एमडीएम डीपीओ पूनम कुमारी, संभाग प्रभारी उमेश उपाध्याय सहित सभी बीईओ, शिक्षा विभाग के पदाधिकारी व कर्मी उपस्थित थे।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here