बड़ी खबर : सिवान में एक और गोपालगंज में दो कोरोना के नए मरीज मिलें , इलाके में दहसत का माहौल

0
corona

सिवान : इस वक्त एक बड़ी खबर सामने आ रही है पटना से जहां कोरोना के 3 नए मरीज सामने आये हैं. सूबे में लगातार बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या से प्रशासनिक मकहमे में खलबली मच गई है. 3 नए मरीज मिलने के साथ ही सूबे में यह आंकड़ा 28 पहुंच गया है. नए पॉजिटिव केस में दो मरीज गोपालगंज और एक मरीज सीवान जिले का रहने वाला है. गोपालगंज में अब मरीजों की संख्या 3 हो गई है. जबकि सीवान में अब आधा दर्जन मरीज हो गए हैं.  बिहार के अंदर अब तेजी से कोरोना के मरीज सामने आ रहे हैं. पिछले कुछ दिनों में ही यह आंकड़ा बिहार में अब दोगुना हो गया है.

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

पटना IGIMS से तीन नए पॉजिटिव मामले सामने आने की पुष्टि हुई है. आईजीआईएमएस में सैंपल जांच की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अस्पताल प्रबंधन ने बताया कि 3 मरीज बढ़ने के साथ ही यह आंकड़ा अब 28 हो गया है. इससे पहले गुरूवार को एक एक मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव सामने आई थी. जिसके बाद स्थित और गंभीर हो गई है.

मिली जानकारी के मुताबिक गया की एक महिला की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी. उसके पति की भी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिलने की बात कही जा रही है. देश भर में यह आंकड़ा अब तेजी से फ़ैल रहा है. कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या देशभर में लगातार बढ़ रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने शाम के चार बजे अपने नियमित प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि कल से लेकर अभी तक COVID-19 से 328 लोग संक्रमित हुए हैं और 12 लोगों की मौत हुई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमण के लगभग 400 पॉजिटिव मामले ऐसे पाये गये हैं जिनके तब्लीगी जमात कार्यक्रम से संबंध हो सकते हैं.

देशभर में कुल मामलों की बात करें तो 2113 लोग अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं और इनमें से 50 लोगों की मौत हुई है. 174 मरीज ठीक हुए हैं. प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि देशभर में तब्लीगी जमात के सदस्यों सहित उनके संपर्क में आए करीब 9,000 लोगों को पृथक (क्वॉरन्टीन) रखा गया है. उन्होंने कहा कि दिल्ली में तब्लीगी जमात के करीब 2,000 सदस्यों में से 1,804 को पृथक रखा गया है, जबकि 334 को अस्पतालों मे भर्ती कराया गया है.