सिवान : उत्तर प्रदेश के रिटायरमेंट दरोगा की गोली मारकर बिहार के सिवान में हत्या

0
murder
  • इलाज के पश्चात मौत, बोलेरो लूट के दौरान विरोध करने पर अपराधियों ने दिया घटना को अंजाम
  • घटना को अंजाम देने वाले अपराधी स्कॉर्पियो पर थे सवार
  • सीवान के नौतन से बेटे के ससुराल वालों से मिलकर लौट रहे थे अपने घर को

परवेज़ अख्तर/सिवान :
सीवान में सक्रिय अपराध कर्मियों ने करीब 10 घंटे के अंदर दूसरी बड़ी घटना को अंजाम देकर लोगों को सकते में डाल दिया है। इसके बावजूद सीवान पुलिस सजग नही दिख रही है। जिससे लोगों में दहशत व भय का माहौल कायम है। इसी कड़ी में अपराधिक घटना की एक और कड़ी को जोड़ते हुए। शातिर बदमाशो ने जिले के गुठनी थाना क्षेत्र के भठही गांव के समीप रिटायरमेंट दरोगा की बेलोरो गाड़ी लूट के दौरान विरोध करने पर दुस्साहसी अपराधियों ने गोली मार हत्या कर दी। जबकि ड्राइवर रजनीश कुमार पांडेय बाल बाल बच गए। उक्त घटना रविवार की देर रात्रि करीब 10 बजे की बतायी जा रही है। घटना के बाद से लोगों में दहशत का माहौल कायम है। घटना के संबंध में प्राप्त विवरण के मुताबिक उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के सलेमपुर के तिलौली सोहनाग गांव निवासी सह रिटायरमेंट दरोगा गोरख प्रसाद जो रविवार को अपने बेटे के ससुराल सिवान जिले के नौतन थाना क्षेत्र के अंगौता गांव में आए हुए थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

बेटे के ससुराल से खाना – पीना खाकर जब वह अपने घर को लौट रहे थे कि इसी बीच उपरोक्त स्थान पर स्कॉर्पियो पर सवार शातिर अपराधियों ने इनकी बोलेरो गाड़ी लूटने का प्रयास किया। जिस पर रिटायरमेंट दरोगा ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया। इसी पर बौखलाए शातिर अपराधियों ने रिटायरमेंट दारोगा को गोली दाग दी। जिससे वे शदीद तौर पर जख्मी हो गये। आनन-फानन में उन्हें इलाज हेतु सीवान के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के पश्चात उनकी मौत हो गई। उधर घटना की सूचना जैसे ही एसडीपीओ [सदर ] जितेंद्र पांडे दल – बल के साथ सीवान के सदर अस्पताल पहुंचे तथा मामले की छानबीन शुरू कर दी। बाद में नगर थाने की पुलिस ने मृत रिटायरमेंट दारोगा गोरख प्रसाद के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करा उनके परिजनों को सौंप दिया।

खबर लिखे जाने तक पुलिस को इस घटना में किसी भी प्रकार की सफलता हासिल नहीं हो सकी थी। यहां बताते चले कि 10 घंटे के अंदर यह दूसरी बड़ी वारदात है। रविवार की दोपहर दारौंदा थाना क्षेत्र के करसौत पुल के समीप शातिर अपराधियों ने एक अत्याधुनिक हथियार से फायरिंग कर महाराजगंज प्रखंड के बलऊं पंचायत के मुखिया सुनील सिंह को मौत के घाट उतार दिया था। जहां आक्रोशित ग्रामीणों ने कई घंटे तक सिवान- पैगंबरपुर मुख्य पथ को घण्टों जाम कर  सरकार तथा  पुलिस प्रशासन के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की थी। अभी यह मामला से पर्दा उठा ही नहीं की तब तक गुठनी थाना क्षेत्र में सक्रिय शातिर अपराधियों ने दूसरी बड़ी घटना को अंजाम दे कर लोगों को सकते में डाल दिया है।