सिवान: मांगों को लेकर माले कार्यकर्ताओं ने दिया धरना

0

परवेज अख्तर/सिवान: ट्रेनों के ठहराव समेत विभिन्न मांगों को लेकर रविवार को भाकपा माले के इंकलाबी नौजवान सभा ने जीरादेई विधायक अमरजीत कुशवाहा के नेतृत्व में मैरवा रेलवे स्टेशन के समक्ष धरना दिया। इस दौरान मांग पत्र भी रेलवे अधिकारी को सौंपा गया। धरने को संबोधित करते हुए विधायक ने कहा कि मैरवा रेलवे स्टेशन से पश्चिमी रेलवे ढाला के बीच सड़क जर्जर हो चुकी है। वाहन चालक दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं। सुमेरपुर अंडर पासिग पुल में भी जलजमाव से लोगों को परेशानी हो रही है। बिलासपुर रेलवे क्रासिग पर आवागमन रास्ता का निर्माण कराया जाए। इसे बंद करना ठीक नहीं होगा। मैरवा में कई ट्रेनों का ठहराव कोविड के दौरान बंद कर दिया गया था उसे चालू किया जाए। उन्होंने कहा कि कई ट्रेनों को विशेष ट्रेन का नाम देकर रेलवे विभाग द्वारा मनमाना भाड़ा भी वसूल रहा है। पैसेंजर ट्रेन को विशेष ट्रेन कहकर एक्सप्रेस ट्रेन का किराया लिया जा रहा है। इससे जनता त्रस्त है। वहीं केंद्र सरकार रेलवे को बेचने में मस्त है। उन्होंने कहा कि इसको लेकर आगे भी व्यापक आंदोलन होगा। संचालन जिला परिषद उपेंद्र साह ने किया। धरना में जयराम यादव, मुकेश कुशवाहा, जिसू अंसारी, अशोक प्रजापति, संदीप कानू समेत कई माले कार्यकर्ता शामिल थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

रेलवे व स्थानीय प्रशासन रहा अलर्ट

धरना प्रदर्शन की सूचना पूर्व में ही विधायक ने रेलवे के वरीय अधिकारी और स्थानीय प्रशासन को दे दी थी। इसको लेकर काफी संख्या में रेलवे पुलिस व अधिकारी और मैरवा अंचलाधिकारी दिव्यराज गणेश तैनात रहे। रेलवे के सहायक अभियंता अरविद कुमार को मांग पत्र सौंपा गया। उन्होंने बताया कि रेलवे स्टेशन के निकट माल गोदाम रोड रेलवे सड़क का निर्माण जल्द शुरू होगा। इसके लिए सामग्री वहां गिराई जा रही है। बरसात बाद काम में तेजी आएगी। ट्रेनों के ठहराव को लेकर रेलवे बोर्ड और सरकार को निर्णय लेना है। अंडरपास में जलजमाव की समस्या का समाधान शीघ्र निकाला जाएगा।

क्या थीं धरनार्थियों की प्रमुख मांगे

– रेलवे स्टेशन के पश्चिमी रेलवे सड़क का निर्माण कराए जाने, सुमेरपुर अंडरपास पुल में जल जमाव की समस्या का स्थाई समाधान निकालने, बिलासपुर रेलवे समपार पर रास्ता या ओवरब्रिज बनाए जाने, पाटलिपुत्रा एक्सप्रेस, छपरा-मथुरा एक्सप्रेस, अवध आसाम एक्सप्रेस, लखनऊ-बरौनी एक्सप्रेस आदि समेत अन्य ट्रेनों का मैरवा रेलवे स्टेशन पर ठहराव की व्यवस्था किया जाने, ट्रेनों का परिचालन पूर्व की तरह सुनिश्चित करते हुए विशेष ट्रेन के नाम पर अधिक भाड़ा वसूली बंद करने, सभी रेलवे स्टेशन पर टिकट काउंटर से टिकट देने की व्यवस्था करने, पैसेंजर ट्रेन का भाड़ा पहले की तरह ही लेने, स्पेशल के नाम पर पैसेंजर ट्रेन का भाड़ा एक्सप्रेस की तरह लेना बंद करने, मैरवा रेलवे स्टेशन पर पेयजल और शौचालय का समुचित व्यवस्था करने आदि मांग शामिल हैं।