सिवान: आरपीएफ ने शहर में छापेमारी कर अनाधिकृत टिकट कारोबारी को पकड़ा

0
  • छापेमारी के दौरान 07 आरक्षित रेल टिकट हुआ बरामद
  • आरपीएफ ने 10 पर्सनल यूजर आईडी भी बरामद किया

परवेज अख्तर/सिवान: सीवान जंक्शन आरपीएफ पोस्ट के निरीक्षक अजय कुमार यादव के निर्देशन में आरपीएफ ने शहर के पकरी में स्थित सुपर ट्रैवेल्स सर्विस दुकान में आंदर छापेमारी कर अनाधिकृत रुप से आरक्षित रेल टिकट बनाने एवं बेचने के आरोप में दुकान के संचालक को गिरफ्तार किया. पकड़े गये दुकानदार का नाम राकेश कुमार है जो महादेवा ओपी थाना क्षेत्र के दरोगा हाता निवासी शिवजी प्रसाद का का पुत्र है. आरपीएफ निरीक्षक अजय कुमार यादव ने बताया कि मंडल मुख्यालय से प्राप्त ई-टिकटिंग अवैध कारोबार करने वाले आईडी-के आधार पर की गयी छापेमारी में अवैध रूप से पर्सनल यूजर आईडी से बनाए गए लाइव दो तत्काल ई टिकट, यात्रा किया हुआ चार तत्काल ई टिकट, यात्रा किया हुआ सामान्य काउंटर टिकट, जो यात्री टिकट सेवा केंद्र स्टेशन रोड सीवान से बना हुआ है. एक टिकट यात्री सेवा केंद्र स्टेशन रोड सीवान से बना हुआ सामान्य काउंटर टिकट कैंसिल किया हुआ, 01 टिकट के साथ रेलवे ई टिकट के अवैध कारोबार करने के जुर्म में  गिरफ्तार किया गया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

उन्होंने बताया कि अभियुक्त द्वारा उपरोक्त ई-टिकटों को ग्राहक से 300 से 500 रुपये तक अधिक लेकर बनाए जाने की बात स्वीकार की जा रही हैं. मौके से उपरोक्त टिकटों के अलावा एक लैपटॉप एवं दो मोबाइल फोन एक प्रिंटर, 8 पीस आरक्षण मांग पत्र तथा 4270 रुपया जब्त किया गया. बरामद किये गये रेल टिकटों की कीमत करीब 9566 रुपये है. गिरफ्तार संचालक आईआरसीटीसी ट्रैवल बुटीक का अधिकृत एजेंट है जिसका आईडी नंबर-PATS101 बताया जा रहा है. इसके पास 10 पर्सनल यूजर आईडी बरामद किया गया है. छापेमारी में उप निरीक्षक श्रवण कुमार शर्मा उप निरीक्षक सुरेश चंद्र पांडे, सहायक उप निरीक्षक शैलेंद्र पांडे, हेड कॉन्स्टेबल कुमार प्रियरंजन तथा कांस्टेबल महेश सिंह आदि ने सहयोग किया. आरपीएफ निरीक्षक ने बताया कि गिरफ्तार धंधेबाज को रेल मजिस्ट्रेट के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा. इस संबंध में रेलवे सुरक्षा बल द्वारा सिवान पोस्ट पर एक मामला दर्ज किया गया है. सहायक उप निरीक्षक शैलेंद्रर पांडे द्वारा मामले का अनुसंधान किया जा रहा है.