सिवान: राष्ट्रीय युवा सप्ताह के रूप में मनी स्वामी विवेकानंद की जयंती

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिला मुख्यालय समेत ग्रामीण क्षेत्रों में विभिन्न संगठनों द्वारा गुरुवार को स्वामी विवेकानंद की जयंती श्रद्धा व समरसता पूर्वक मनाई गई। इस मौके पर उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर उनकी जीवनी पर प्रकाश डाला गया तथा उनके आदर्शों को आत्मसात करने पर बल दिया गया। वक्ताओं ने कहा कि युवा वर्ग वास्तव में किसी भी देश की आबादी का सबसे गतिशील और जीवंत हिस्सा होता हैं। ऐसे में यह जरूरी है कि युवाओं के व्यक्तित्व का विकास किया जाए और उन्हें विभिन्न राष्ट्र निर्माण गतिविधियों में शामिल किया जाए। इस दौरान शहर के महावीरी सरस्वती विद्या मंदिर, विजयहाता में विद्यालय के स्वावलंबी पूर्व छात्रों का एक दिवसीय मिलन समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत में युवाओं के आइकन स्वामी विवेकानंद के चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित किया गया।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

वहीं लोक शिक्षा समिति के विभाग निरीक्षक राजेश कुमार रंजन, विद्यालय प्रबंधकारिणी समिति के उपाध्यक्ष पारसनाथ सिंह, सह सचिव ओमप्रकाश सिंह, कोषाध्यक्ष ओमप्रकाश दुबे, प्रांतीय प्रचार-प्रसार प्रमुख नवीन सिंह परमार तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग प्रचारक रौशन राणा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन किया। आगत अतिथियों ने युवाओं को संदेश देते हुए कहा कि चिरकाल से हमारे युवा ही देश के भविष्य के कर्ताधर्ता एवं कल्याण के कारक रहे हैं। इन्हें स्वार्थ से संन्यास लेकर निष्काम कर्म करते रहना चाहिए।

वहीं दूसरी ओर केंद्रीय विद्यालय में प्राचार्य योगेंद्र नाथ राम, जवाहर नवोदय विद्यालय में प्राचार्य एसबी मिश्रा, जेडए इस्लामिया कालेज में प्राचार्य डा. मोहम्मद इदरीश आलम, डीएवी पीजी कालेज में प्राचार्य अजय कुमार पड़ित, राजा सिंह महाविद्यालय में डा. उदय शंकर पांडेय, राजवंशी देवी बालिका उच्च विद्यालय में प्राचार्य रेणू तिवारी, विद्या भवन महिला महाविद्यालय में प्राचार्या डा. रीता कुमारी तथा मजहरुल हक डिग्री कालेज तरवारा में प्राचार्य किशोर कुमार पांडेय व एनएसएस कार्यक्रम पदाधिकारी प्रो. अवधेश शर्मा के नेतृत्व में स्वामी विवेकानंद की जयंती राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाई गई।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here