सिवान: आरोपी के घर के दरवाजे पर मृतक का शव जलाने के लिए देर रात्रि तक डटे रहे परिजन

0
Dead Body

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के महुआरी गांव में हुई मारपीट में वृद्ध की मौत मामले में शुक्रवार की देर रात्रि तक पूरे गांव में गहमागहमी का माहौल कायम रहा. शुक्रवार की संध्या घायल सहाजन साह की मौत हो जाने के बाद परिजन मारपीट के आरोपी के दरवाजे पर ही शव को जलाने के लिए देर रात्रि तक डटे रहे. बताते चलें कि बीते बुधवार की संध्या महुआरी वार्ड नंबर 3 में किसी बात को लेकर दो पाटीदार सहाजन साह और स्व. महाजन साह के पुत्रों के बीच विवाद हो गई और विवाद में दोनों तरफ से अंधाधुन लाठियां चली मामला गंभीर हो गई. जहां लाठी सहाजन साह के सर पर लग गया और वे गंभीर रूप से घायल होकर गिर पड़े. परिजनों ने उन्हें सदर अस्पताल में भर्ती कराया जहां चिकित्सकों ने स्थिति काफी नाजुक देखते हुए रेफर कर दिया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

लेकिन परिजन घायल को पटना ना ले जाकर गोरखपुर लेकर चले गये. गोरखपुर जाते ही स्थिति और भी नाजुक हो गई थी. जहां चिकित्सकों ने उन्हें लखनऊ रेफर कर दिया लखनऊ जाने के बाद उन्हें चिकित्सकों ने भर्ती किया इलाज किया लेकिन स्थिति काफी चिंताजनक थी और चिकित्सकों ने जवाब दे दिए की आप घर ले जा सकते हैं. इधर सहाजन साह के पुत्र रमेश कुमार गोंड़ ने मारपीट के बाद स्व. महाजन शाह के तीन पुत्र ह्रकेश्वर साह, महेश्वर साह और सुजीत साह पर मारपीट का प्राथमिकी दर्ज कराया था. लेकिन शुक्रवार की सुबह ही महाजन शाह को घायलावस्था में परिजन लाकर मुफस्सिल थाना गेट के समीप रख दिए और थाने का घेराव किया जहां थाने के अंदर जाकर जमकर हंगामा किया कि जल्द से जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी की जाये.

पुलिस आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर छापेमारी कर रही थी लेकिन परिजन मानने को तैयार नहीं थे. थानाध्यक्ष विनोद कुमार सिंह ने काफी समझाया बुझाया और घायल को इलाज के लिए पुनः सदर अस्पताल भेजा परन्तु देर संध्या घायल की मौत हो गई. मौत के बाद पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया .परिजनों शव को घर लेकर चले गए लेकिन देर संध्या आरोपियों के दरवाजे पर शव को जलाने के लिए डटे रहें. सूचना पर पहुंची पुलिस और गांव के पंचों ने परिजनों को समझा-बुझाकर शव को श्मशान घाट में अंतिम संस्कार करने की बात कही जहां जाकर देर रात्रि मृतक का अंतिम संस्कार हुआ.