सिवान: नाइजीरिया से सीवान पहुंचा युवक नशाखुरानी का हुआ शिकार

0

घर पर परिजन करते रहे इंतजार, बेहोशी की हालत में देवरिया आरपीएफ ने ट्रेन से उतारा

✍️परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
गुठनी थाना क्षेत्र के झझौर गांव निवासी स्व. जनार्दन सिंह का बड़ा पुत्र पवन सिंह (25) रविवार सुबह सीवान और देवरिया रेलवे स्टेशन के बीच नशाखुरानी गिरोह का शिकार हो गया. यूपी के देवरिया रेलवे स्टेशन पर नशे की हालत में आरपीएफ के जवानों ने सीवान से देवरिया पहुंची डीएमओ पैसेंजर ट्रेन से उतार कर अपनी निगरानी में उसका इलाज शुरू करवाया और उसकी पहचान होने पर गुठनी पुलिस को सूचना दी. पवन के संबंध सूचना मिलते ही उसकी चाची ममता देवी और भाई हरिवंश देवरिया अस्पताल के लिये निकल गये.गांव इसकी सूचना फैलते ही माहौल गमगीन हो गया और गांव के लोगों ने इसे उसका दुर्भाग्य बताया.पवन अपने घर का एकमात्र कमाऊ सदस्य था और अपने चाचा के प्रयास से बड़ी मशक्कत के बाद दो साल पहले विदेश गया था. नाइजीरिया से दो साल बाद अपनी पूरी कमाई के साथ घर के लिये निकला पवन नशाखुरानी का शिकार होकर अपनी सारी कमाई खो दी.पवन के माता-पिता की मौत वर्षों पहले हो गयी है और वह अपने चार भाईयों में सबसे बड़ा है. घर में चाचा-चाची ही पवन और उसके भाईयों के देखभाल करने वाले है. पवन के पिता जनार्दन सिंह की मौत मार्च 2010 में भूखमरी के शिकार होने से हो गयी थी.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

पवन भाईयों संग फिर हुआ निर्धन

नशाखुरानी का शिकार हुआ गुठनी के झझौर गांव निवासी जनार्दन सिंह का पुत्र पवन सिंह नशाखुरानी का शिकार होकर पुनः निर्धनता की गोद में चला गया. अत्यंत गरीब परिवार का सदस्य पवन वर्षों पहले अपनी माता को खोया था और 2010 में इसके पिता भुखमरी का शिकार होकर दम तोड़ दिये.