सिवान: दो दिनों की बारिश में पानी-पानी हुआ शहर

0
barish
  • निचले इलाकों में घरों में पानी घुसने से घरों से निकलना मुश्किल
  • जलजमाव की समस्या ने नालियों की सही उड़ाही की खोली पोल

परवेज अख्तर/सिवान: शहर में पिछले दो दिनों से हो रही बारिश से निचले इलाकों में घरों में पानी घुसने से परेशानी बढ़ गई है। वहीं शहर की हालत भी पानी-पानी जैसी हो गई है। कभी तेज तो कभी रूक-रूक कर हो रही बारिश ने शहर को पानी-पानी कर दिया है। बारिश के दौरान कई इलाके में बिजली आपूर्ति भी बाधित रही।हालांकि लगातार हो रही बारिश से तापमान में कमी आई है। इससे लोगों को गर्मी से भी राहत मिली है। पिछले दो दिनों से हो रही बारिश के कारण शहर से गुजरने वाली दाहा नदी का जलस्तर बढ़ा है, वहीं पचमंदिरा पोखरा, कचहरी मोती स्कूल पोखरा, महादेवा पोखरा लबालब हो गया है। नालियों के जाम रहने व सही से उड़ाही नहीं होने के कारण नालियों ओवरफ्लो कर गई हैं। सड़क पर नाली का गंदा पानी बहने से लोगों को आने-जाने में परेशानी उठानी पड़ी। बारिश के कारण जलजमाव की समस्या नगर परिषद की सफाई व्यवस्था की पोल खोल रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

लगातार बारिश से कई मोहल्ले में जलजमाव की बढ़ी समस्या

शहर में बारिश का सिलसिला गुरुवार की सुबह भी जारी रहा। सुबह से ही हो रही जोरदार बारिश 10 बजते-बजते थम तो जरूर गई लेकिन लगातार बारिश होने से कई मोहल्ले में पानी भर गया है। मोहल्ले में नाला जाम होने व जलनिकासी की सही व्यवस्था नहीं होने से लोगों के घरों तक में पानी पहुंच गया। इसकी वजह से लोगों को आवागमन करने में काफी परेशानी उठानी पड़ी है। शहर के शुक्ल टोली से पुरानी किला जाने वाले रास्ते में घुटना भर पानी लग गया था। सड़क के दोनों तरफ की दुकानें व मकान जलजमाव से प्रभावित रही। इस इलाके में रहने वाले नगर परिषद को कोसते हुए मछली मारने की बात कह रहे थे। डीआरडीए गेट से आंबेडकर भवन तक, एमएम कॉलोनी, लक्ष्मीपुर बथान, इस्लामिया नगर, ओल्ड लक्ष्मीपुर, आसी नगर, नई बस्ती महादेवा, मालवीय नगर, शांति नगर, फतेहपुर समेत कई मोहल्लों में नाला जाम होने से पूरी तरह से पानी भर गया है। हालात इतने खराब रहे कि कुछ कहना मुश्किल था। मोहल्ले के लोगों का कहना था कि नगर परिषद द्वारा नालों की सफाई सही से नहीं कराने से यह समस्या खड़ी हुई है।

मुख्य मार्ग में भरा पानी, दुकान में पानी घुसने से बंद पड़ी दुकानें

नगर परिषद द्वारा विशेष टीम बनाकर नालों की उड़ाही की बात कही जा रही है, लेकिन भारी बारिश के बाद जिस प्रकार से मोहल्ले की कौन कहे सड़कों पर पानी भर गया उससे नप की नाले उड़ाही के दावे विफल साबित हो रहे हैं। राजेन्द्र पथ मुख्य मार्ग में अस्पताल मोड़ से बबुनिया मोड़ तक सड़क के उत्तरी दिशा में पानी भर गया था। इस मार्ग में मुख्य सड़क पर जलजमाव होने से मार्केट में पानी भर गया। दुकान व मार्केट में पानी घुसने से दुकानदार मुंह लटकाए रहे। बारिश से थाना रोड में शहीद सराय के सामने व शांति वट वृक्ष से डीएवी कॉलेज मोड़ तक सड़क के पूर्वी दिशा में मुख्य मार्ग पर लोग पानी से होकर आ-जा रहे थे। इस कारण से रूक-रूक कर शांति वट वृक्ष के पास जाम की समस्या दिनभर होती रही। लगातार बारिश से सिसवन बस स्टैंड व मजहरुलहक बस स्टैंड की स्थिति नारकीय हो गई है। स्टैंड में गाड़ी पकड़ने आए यात्रियों को भारी परेशानी उठानी पड़ी। सिसवन बस स्टैड में जलजमाव से दुकानदार से लेकर चालक व यात्री तक परेशान रहे।