सिवान का चर्चित कारतूस सप्लायर झारखंड में गिरफ्तार, कई हत्या व लूट में है वांछित

0

झारखंड के डोरंडा, बरियातू , हटिया, नामकुम, जगरनाथपुर, समेत विभिन्न थाना क्षेत्रों में हुई चर्चित हत्या व लूट के कई मामले में है इसकी संलिप्तता: डीएसपी श्री प्रभात रंजन बड़वाड़ 

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

झारखंड के खादगढ़ा बस स्टैंड से पुलिस ने किया गिरफ्तार

गिरफ्तार अपराधी बैशाखी दक्षिण टोला मोहल्ला निवासी स्वर्गीय मोहर्रम अंसारी के पुत्र वसीम अकरम उर्फ नसीम है

परवेज़ अख्तर/सिवान:
जिले के सराय ओपी थाना क्षेत्र के बैशाखी दक्षिण टोला मोहल्ला निवासी स्वर्गीय मोहर्रम अंसारी के पुत्र वसीम अकरम उर्फ नसीम को झारखंड पुलिस ने अत्याधुनिक कारतूस समेत कई आपत्तिजनक सामान के साथ गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार अपराधी जो कई महीनों से झारखंड पुलिस के रडार पर था।लेकिन मोबाइल तकनीकी का सही लोकेशन नहीं मिल पाने के कारण वह पुलिस की नजरों से बचता रहा। अंततः पुलिस ने अपने खुफिया तंत्र के सहयोग से उसे झारखंड के राजधानी रांची के खादगढ़ा बस स्‍टैंड में खदेड़कर दबोच लिया। पुलिस द्वारा गठित उसकेे खुफिया तंत्र ने पुलिस को सूचना दी थी। वसीम खादगढ़ा बस स्टैंड में लगी सत्येंद्र नामक बस पकड़ने के लिए आया हुआ है। सूचना पाते ही पुलिस ने बस स्टैंड की चारो बगल से घेराबंदी कर उसे धर दबोचा।छापेमारी का नेतृत्व रांची के खेलगांव थानाध्यक्ष मुक्तिनारायाण सिंह कर रहे थे।

पुलिस ने तलाशी के क्रम में उसके पॉकेट से कई अत्याधुनिक कारतूस व आपत्तिजनक सामान बरामद किए। इस संदर्भ रांची सदर डीएसपी श्री प्रभात रंजन बड़वाड़ ने बताया कि गिरफ्तार वसीम अकरम उर्फ नसीम जो एक कुख्यात अपराधकर्मी है जो बिहार से आकर झारखंड के राजधानी में कई संगीन मामले को अंजाम देकर फिर बिहार चला जाता था। जिसकी गिरफ्तारी के लिए कई महीनों से राजधानी के विभिन्न थाना पुलिस को लगाया गया था। श्री बड़वाड ने बताया की रांची के डोरंडा, बरियातू ,हटिया, नामकुम, जगरनाथपुर, समेत विभिन्न थाना क्षेत्रों में हुई चर्चित हत्या व लूट के कई मामले में इसकी संलिप्तता है। श्री बड़वाड ने बताया की कि कारतूस बरामद की मामले में खेलगांव थाना कांड संख्या 21/ 2021 धारा 25(1बी) ए/26 शस्त्र अधिनियम के अंतर्गत थानाध्यक्ष मुक्तिनाथ सिंह के बयान पर दर्ज कर अनुसंधान प्रारंभ करते हुए गिरफ्तार वसीम अकरम उर्फ नसीम को जेल भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि कागजी कोरम पूरा करने के बाद पुनः उसे विभिन्न थाना की पुलिस रिमांड पर लेगी।ताकि विभिन्न थाना क्षेत्रों में हुई चर्चित हत्या व लूट के मामले का उद्भेदन किया जा सके।

500 सौ में खरीदारी कर बेचते थे 1000 में:

पुलिस के हत्थे चढ़ा वसीम अकरम उर्फ नसीम ने पुलिस को बताया कि हम उड़ीसा की राऊरकेला से कारतूस की खरीदारी 500 में करते हैं तथा इसे बिहार के सिवान जिला में ले जाकर 1000 में बिक्री कर देते हैं। उधर पुलिस ने उसके स्वीकृति बयान के आधार पर कारतूस उपलब्ध कराने वाले व्यक्ति की भी तलाश कर रही है ताकि सत्यता का उजागर हो सके।

अपराधिक इतिहास की कुंडली खंगालने सिवान आएगी झारखंड पुलिस:

गिरफ्तार वसीम अकरम उर्फ नसीम को जेल भेजने के बाद उसके अपराधिक इतिहास की कुंडली खंगालने झारखंड पुलिस सिवान पहुंचेगी। ताकि झारखंड पुलिस उसका अपराधिक इतिहास अपने केश डायरी में अंकित कर सकेगी। झारखंड पुलिस का मानना है कि गिरफ्तार व्यक्ति एक कुख्यात अपराधी है जो बिहार से आकर झारखंड में कई अपराधिक घटनाओं को अंजाम देने में शामिल था।

स्थानीय सराय ओपी थाने में भी कई मामले हैं दर्ज:

झारखंड पुलिस द्वारा गिरफ्तार वसीम अकरम उर्फ नसीम के विरुद्ध उसके पैतृक जिला सिवान के स्थानीय थाना सराय ओपी में बैशाखी बाजार पर संप्रदायिक हिंसा भड़काने व साधारण दंगे समेत अन्य मारपीट के मामले दर्ज हैं। जो मामला अभी न्यायालय में विचाराधीन है।