सिवान के दारौंदा में पांच माह में छह हत्या, अपराधियों के लिए सेफ जोन बना दारौंदा थाना क्षेत्र !

0
  • 1 : जुलाई: मुकेश यादव
  • 21: जुलाई: धीरज साह
  • 8 :सितंबर: विजय प्रसाद
  • 13 :सितंबर: रामावतार
  • 27: सितंबर: मुखिया सुनील सिंह
  •  29: नवंबर: प्रियांशू सिंह

दारौंदा थाना क्षेत्र में पुलिस पस्त, अपराधी मस्त की तर्ज पर हो रही है घटनाएं

परवेज़ अख्तर/सिवान:
सिवान जिले के दारौंदा थाना क्षेत्र में पांच माह में मुखिया सहित छह लोगों की हत्या शातिर अपराधियों द्वारा की जा चुकी। इस मामले में पुलिस ने सिर्फ मुखिया सुनील सिंह की हत्या मामले में तीन आरोपितों की गिरफ्तारी की है।बाकी अन्य हत्या मामले में पुलिस के हाथ खाली ही है। अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस अंधेरे में ही हाथ-पांव मारती दिख रही है।इस क्षेत्र में पुलिस पस्त अपराधी मस्त की तर्ज पर घटनाएं हो रही हैं। इससे लोगों में भय एवं दहशत का माहौल है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

इस प्रकार दारौंदा थाना क्षेत्र के अपराधियों के लिए सेफ जोन प्रतीत हो रहा है

ज्ञात हो कि 1 जुलाई को सिवान- पैगंबरपुर मुख्य पथ पर बाल बंगरा पेट्रोल पंप के सामने फर्नीचर दुकानदार मुकेश यादव की हत्या अपराधियों ने दिनदहाड़े गोली मारकर कर दी थी। इस मामले में मृतक के भाई कमलेश यादव ने थाने में आवेदन देकर महाराजगंज थाना क्षेत्र के गोलू कुमार एवं भोला कुमार को नामजद किया था।वहीं 21 जुलाई को दारौंदा थाना क्षेत्र के रुकुंदीपुर कटहलबाड़ी बगीचे के सड़क पर बसंतपुर थाना क्षेत्र के मोलनापुर निवासी कामाख्या साह के पुत्र धीरज साह की हत्या अपराधियों ने गोली मारकर कर दी थी। इस घटना में मृतक के जेब से एंड्राइड मोबाइल, खोखा गोली भी पुलिस ने बरामद की थी। इस मामले में मृतक के पिता के बयान पर अज्ञात अपराधियों के खिलाफ दारौंदा थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। वहीं 8 सितंबर को सिवान- पैगंबरपुर मुख्य पथ पर थाना क्षेत्र के मर्दनपुर में वेल्डिग दुकान के आगे सोए दुकानदार विजय प्रसाद की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।

इस मामले में मृतक के भाई संजय प्रसाद के बयान पर दारौंदा में मदन यादव समेत तीन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी। 13 सितंबर की रात अपराधियों ने सिवान-पैगंबरपुर मुख्य पथ पर मध्य विद्यालय करसौत विद्यालय के समीप बाइक पर सवार होकर घर लौटते समय महाराजगंज के हरकेशपुर निवासी राम अवतार की हत्या चाकू से गोदकर कर दी दी। उसके साथी इलियास को चाकू मार घायल कर दिया था जिसका इलाज अभी भी पटना में चल रहा है। इस मामले में मृतक के पिता कमल महतो के बयान पर अज्ञात अपराधियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी। वहीं 27 सितंबर की दोपहर सिवान-पैगंबरपुर मुख्य पथ पर करसौत पुल के पास अपराधियों ने दिनदहाड़े महाराजगंज प्रखंड के बलऊं पंचायत के मुखिया लेरुआ निवासी सुनील कुमार सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

इस मामले में मृतक के इकलौता पुत्र सुमित कुमार सिंह के बयान पर तीन लोगों को आरोपित किया गया था,जिसमें पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर चुकी है।जबकि अन्य सभी घटनाओं में पुलिस अब तक कोई उपलब्धि हासिल नहीं कर पाई है। पुलिस अभी इन मामलों का खुलासा करने में जुटी ही ही थी,कि 29 नवंबर की देर शाम अपराधियों ने जी.बी. नगर थाना क्षेत्र के माधोपुर गांव निवासी चंद्रशेखर सिंह के पुत्र कुख्यात प्रियांशु कुमार सिंह की गोली मारकर निर्मम हत्या कर दी गई।घटनास्थल से पुलिस ने मोबाइल, बाइक एवं मैगजीन बरामद किया है। पुलिस मोबाइल के आधार पर अपराधियों तक पहुंचने का प्रयास कर रही हैं। इस संबंध में थानाध्यक्ष अजीत कुमार सिंह ने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी शीघ्र ही कर ली जाएगी।