तस्करों ने जमीन के अंदर छुपा रखी थी शराब, पुलिस ने खोदकर 800 लीटर देसी शराब स्पिरिट के गैलन निकाले

0

छपरा: छपरा के शाहनेवाजपुर गांव में तरैया पुलिस ने जमीन के अंदर छुपाई गई 800 लीटर देसी शराब की गैलन बरामद की है। पुलिस ने देर रात गैलन लेकर भाग रहे एक व्यक्ति को दबोच लिया, जो देसी शराब पहुंचाने जा रहा था। कंधे पर प्लास्टिक का गैलन लेकर वह निकला ही था कि पुलिस ने उसे पकड़ लिया। घटना पचभिडा पंचायत की है, जहां पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। बिहार में शराबबंदी के बावजूद धड़ल्ले से शराब की बिक्री जारी है। बेखौफ तस्कर घर-घर शराब पहुंचा रहे हैं। शादी के सीजन में इनकी चांदी हो गई है। इसी बात की भनक पाकर पुलिस ने छापेमारी की। गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस गांव पहुंची थी, जहां शराब बरामद की गई। थानाध्यक्ष विश्वमोहन राम ने बताया कि दलान से तीन बड़े गैलन देसी शराब बरामद हुई है। शराब बिक्री मामले में फरार अभियुक्त पवन राय के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

ड्रम में छुपाई गई थी शराब

मद्य निषेध अधिकारियों की सूचना पर पुलिस की टीम शाहनेवाजपुर निवासी राहुल कमार के घर छापेमारी करने पहुंची। पुलिस को देखकर राहुल कुमार और उसके परिजन घर से भागने लगे। इस दौरान एक व्यक्ति 35 लीटर देसी शराब (स्पिरिट) लेकर भाग रहे व्यक्ति को खदेड़ कर पकड़ लिया। आरोपी गोविंद कुमार ने बताया कि अरविंद कुमार और राहुल के साथ मिलकर वह चोरी-छिपे शराब पहुंचाने का काम करता है।

राहुल के घर में पलंग के नीचे बहुत बड़े -बड़े गढ्ढे खोदकर 200 लीटर के चार ड्रम में 800 लीटर देसी शराब स्पिरिट छुपा कर रखा गया था। पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद चारों ड्रम निकाले। घटना में गोविंद कुमार, राहुल कुमार, अरविन्द कुमार मांझी का नाम शामिल है। पुलिस द्वारा भारी मात्रा में देसी शराब बरामद करने पर धंधेबाजों में हड़कंप मचा हुआ है। वहीं गोविंद कुमार को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेज दिया।तरैया थाना क्षेत्र के भलुआ शंकरडीह एवं बनिया हसनपुर गांव में 29 नवंबर को उत्पाद विभाग ने छापेमारी कर 255 लीटर देसी शराब एवं 54 लीटर अंग्रेजी शराब बरामद किया था, जिसके आलोक में दो लोगों पर एफआईआर दर्ज किया गया । भलुआ शंकरडीह गांव निवासी अशोक महतो एवं बनिया हसनपुर गांव निवासी संतोष सहनी को अभियुक्त बनाया गया है। अभियुक्त फरार है।

विधानसभा चुनाव के दौरान कई खेप शराब जब्त किए गए। सारण जिले के बॉर्डर इलाके से सबसे अधिक शराब मिली थी। यहां मांझी और सिताबदियारा में शराब जब्त किया गया था। मांझी पुलिस ने पिछले एक सप्ताह में करीब 15 सौ लीटर विदेशी शराब और 15 सौ लीटर से अधिक देसी शराब जब्त किया था। 16 लाख रुपए की शराब बरामद करने में मांझी पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली थी। अब तक कई वाहनों के साथ 7 धंधेबाजों को गिरफ्तार किया जा चुका है। 28 सितंबर की रात ट्रक पर लदे 40 ड्रम शराब पुलिस ने जब्त की। इसके अलावा छपरा शहर के मुफस्सिल थाना पुलिस ने 16 अक्टूबर को शराब के 501 कार्टून पकड़े थे।

नवंबर में बरामदगी

16 नवंबर-मढ़ौरा में शराब के साथ एक धंधेबाज गिरफ्तार 17 नवंबर- पानापुर में 18 पाउच शराब बरामद 18 नवंबर-मढ़ौरा में झोला में अंग्रेजी शराब के पैकेट के साथ धंधेबाज गिरफ्तार 22 नवंबर-मशरक में शराबी पुत्र की हरकतों से परेशान पिता ने पुत्र को जेल भिजवाया 25 नवंबर-पानापुर में 23 ड्रम देशी शराब बरामद 27 नवंबर-खैरा में दस लीटर शराब के साथ धंधेबाज गिरफ्तार 28 नवंबर- अमनौर में एक शराब धंधेबाज को पुलिस ने किया गिरफ्तार 29 नवंबर-जलालपुर बाजार में शराब पीकर हंगामा करते एक गिरफ्तार 29 नवंबर-तरैया के दो गांवों से उत्पाद विभाग ने 255 लीटर देशी और 54 लीटर अंग्रेजी शराब किया बरामद 30 नवंबर-मढ़ौरा में पुलिस ने पांच लीटर शराब के साथ धंधेबाज को किया गिरफ्तार।