सिवान में चालकों की मनमानी रोकने को वाहनों में लगेगी स्पीड लिमिट डिवाइस

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिले की सड़कों पर बेलगाम चल रहे व्यावसायिक वाहनों पर अब शिकंजा कसेगा। दरअसल, बेलगाम रफ्तार से जिले में लगातार कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। इसमें कई लोगों ने अपनी जान भी गंवा दी है। विभाग इन वाहनों में इलेक्ट्रानिक स़्पीड लिमिट डिवाइस लगाने की तैयारी शुरू कर दी है। इससे यह पता चलेगा कि वह गाड़ी सड़कों पर कितनी रफ्तार में गुजर रही है। जिला परिवहन विभाग कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार व्यावसायिक वाहनों पर लगाम लगाने का प्रमुख उद्देश्य सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाना है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

वाहन की गति की जानकारी हो सकेगी प्राप्त

नेशनल हाइवे या स्टेट हाइवे पर गुजरने वाले ट्रक व बस की चपेट में आकर अक्सर लोग या तो घायल हो जाते है। या फिर अपनी जान गंवा बैठते हैं। वहीं अधिकतर घटनाओं में ट्रक-बस धक्का मारकर फरार हो जाते हैं। अगर कोई गाड़ी चालक पकड़ा भी जाता है तो वह गाड़ी की रफ्तार कम होने का हवाला देने लगता है। इसलिए ऐसी गाड़ियों में प्रमुखता से इलेक्ट्रानिक्स डिवाइस लगाया जाएगा, ताकि यह पता चल सके कि दुर्घटना के समय गाड़ी की रफ्तार क्या थी। मानक से अधिक रफ्तार होने पर ऐसे वाहन चालकों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

नियम तोड़ने पर रद होगा लाइसेंस व परमिट

आधिकारिक सूत्रों की मानें तो निकट भविष्य में इन नियमों के लागू होने के बाद इसका कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाएगा। नए नियम लागू होने के बाद अगर कोई व्यावसायिक वाहन के चालक उसका उल्लंघन करते पाए जाएंगे तो उनके विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई भी की जाएगी। इसके तहत गाड़ियों का परमिट भी रद किया जाएगा। साथ ही चालकों का लाइसेंस भी निलंबित किया जाएगा। गाड़ी मालिकों पर भी जुर्माना हो सकता है। क्या कहते हैं जिम्मेदार : व्यावसायिक वाहनों के कारण सड़क दुर्घनाओं में ज्यादा बढ़ोतरी हो रही है। इलेक्ट्रानिक डिवाइस लग जाने के बाद कभी भी किसी वाहन की गति का पता लगाया जा सकेगा। इससे कुछ हद तक सड़क दुर्घटनाओं में कमी आ सकेगी।

प्रमोद कुमार, प्रभारी जिला परिवहन पदाधिकारी, सिवान।