बसंत पंचमी के मौके पर राज्य स्तरीय निषाद मेला कल, तैयारी पूरी

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के भगवानपुर प्रखंड के पनियाडीह गांव स्थित ज्योतिष ब्रह्मास्थान के पास बसंतपंचमी के मौके पर राज्य स्तरीय निषाद मेले की तैयारी पूरी कर ली गई है। यहां काफी संख्या में निषाद समाज के लोग ज्योतिष ब्रह्माबाबा की पूजा करेंगे तथा सुख समृद्धि की कामना करेंगे। इस दौरान मेले के लिए दुकानें लगनी शुरू हो गई हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

बतादें कि प्रखंड के पनियाडीह बाजार स्थित ज्योतिष ब्रह्मास्थान को पर्यटन मानचित्र पर लाने की कवायद शुरू नहीं होने का मलाल लोगों को है। इस स्थान पर हर साल बसंत पंचम के मौके पर राज्य स्तरीय निषाद मेला लगता है। मेले में निषाद जाति के हजारों की संख्या में श्रद्धालु जुटते हैं। इस में जिले के अलावा गोपालगंज, सारण, मुजफ्फरपुर, वैशाली, मोतिहारी, बेतिया, पटना, आरा, बक्सर, पूर्णिया आदि जगहों समेत कई पड़ोसी राज्यों से भी निषाद समाज के लोग आते हैं।

मेले के उद्घाटन में 15 वर्ष पहले आए तत्कालीन पर्यटन मंत्री रामप्रवेश राय, तत्कालीन सांसद जयनारायण निषाद व अन्य ने स्थल को पर्यटक केंद्र के रूप में विकसित करने की घोषणा की थी। तब निषाद समुदाय के लोगों को लगा था कि इस स्थान के दिन बहुरेंगे। बावजूद इसके कोई पहल नहीं होने से लोगों में मायूसी है। उस समय स्थानीय लोगों को लगा था कि स्थान के विकसित होने से व्यापार के नए अवसर मिलेंगे। ऐसा नहीं होने से अतिथि निषाद भक्तों में निराशा है। बीडीओ डॉ. अभय कुमार एवं थानाध्यक्ष पंकज कुमार ने बताया कि मेले में प्रशासन की तैनाती रहेगी। मेले में जाने वाले मार्ग पर पुलिस तैनात रहेगी।

क्या है स्थान की महत्ता :-

पनियाडीह के ज्योतिष ब्रह्मास्थान के बारे में कहा जाता है कि यहां सच्चे मन से मांगी गई मुराद पूरी होती है। वहीं पवित्र दुधिया पोखरे के बारे में मान्यता है कि स्नान मात्र से असाध्य रोग से मुक्ति मिल जाती है। आने वाले श्रद्धालु पोखरे से जल अथवा मिट्टी ले जाते हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि प्रसिद्धि के बावजूद स्थान प्रशासनिक स्तर पर उपेक्षित है। स्थान के महंत त्रिभुवन दास के अनुसार स्थानीय स्तर पर प्रसिद्धि के प्रयास के बावजूद अब दुधिया पोखरे पर अस्तित्व संकट के काले साए मंडरा रहे हैं।