वैक्सीनेशन का ऐसा डर: महादलित टोले के लोगों ने टीका लेने से किया इंकार, बोले- कोरोना का टीका लेंगे तो मर जाएंगे, निराश होकर लौटी टीम

0

वैक्सिंग टीम के टोले में पहुंचते ही फरार हो गए टोले के लोग

छपरा: कोरोना महामारी को मात देने के लिए सरकार अथक प्रयास कर लोगों को कोविड का टीका लेने के लिए प्रेरित कर रही है। स्वास्थ्य विभाग की टीम भी जगह-जगह पर शिविर के माध्यम से कोविड का टीकाकरण करने में जुटी हुई है। जिलाधिकारी सारण ने कोरोना वैक्सीन एक्सप्रेस की शुरूआत की है इसी क्रम में मशरक पूर्वी पंचायत के वार्ड 10 के महादलित टोले में पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम टीकाकरण में खाता भी नही खोल सकी। कोरोना वैक्सीन एक्सप्रेस बिना टीका लगाकर वापस लौटी। टीकाकरण कैंप में कुल 200 लोगों को वैक्सीन देना था। जिसमें एक भी महादलित परिवार के लोगों ने वैक्सीन नही लगवाया।महादलित टोले में इंतजार कर रही स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा काफी समझाने के बाद भी कोई भी टीका लगवाने को तैयार नहीं हुए।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

थक हार कर स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने पूर्वी पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि अमर सिंह को सूचना दी मौके पर पहुंचे मुखिया प्रतिनिधि के द्वारा भी काफी समझाया गया, लेकिन महादलित लोग अपना ही राग अलापते दिखे, जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम वापस लौट आई। इस संबंध में पूर्वी पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि अमर सिंह ने बताया कि महादलित टोले में टीकाकरण करने के लिए वैक्सीन एक्सप्रेस की टीम आयी थी, लेकिन यहां पर जागरूकता के अभाव और वैक्सीन लगवाने के बाद मरने की अफवाह से किसी ने वैक्सीन नही लिया।

जबकि इन लोगों को टीम में शामिल भी विकास मित्र, आंगनबाड़ी के द्वारा भी काफी समझाया गया, लेकिन ये लोग टीका लेने से इंकार कर दिए। महादलित बस्ती के लोगों का कहना है कि हम लोग कोरोना वैक्सीन लेंगे तो मर जाएंगे। ऐसा कई जगहों पर हमने सुना है, इसलिए हम लोग कोरोना का वैक्सीन नहीं लगाएंगे। मौके पर मुखिया प्रतिनिधि अमर सिंह ने बताया कि इस टोले में पहले सरकारी स्तर पर जागरूकता अभियान चलाना पड़ेगा फिर कैम्प लगाकर वैक्सीन दिया जाए ऐसी व्यवस्था करनी पड़ेगी।