राष्ट्रीय प्रतीकों की निकली झांकी पपौर-वैशाखी से दारोगा राय कॉलेज तक गई

0

परवेज अख्तर/सिवान:
राष्ट्रीय एकता एवं अखंडता के साथ देश को एक सूत्र में पिरोने वाले भारतवर्ष के प्रथम चक्रवर्ती सम्राट चंद्रगुप्त मौर्य एवं इस देश को सोने की चिड़िया बनाने वाले सम्राट अशोक महान द्वारा किए गए कार्यों के अलावा देश के अमर शहीदों की याद में राष्ट्रीय प्रतीकों की भव्य झांकी अशोक क्लब के तत्वाधान में पपौर बुद्ध विहार से चलकर दारोगा राय कॉलेज तक गई, जहां एक सभा का आयोजन किया गया. कार्यक्रम का शुभारंभ ध्वजोरहन, राष्ट्रगान संविधान की प्रस्तावना पढ़कर किया गया. झांकी बुद्ध विहार से तरवारा मोड़, बबुनिया मोड़, जेपी चौक होते हुए दारोगा राय कॉलेज परिसर में पहुंची. इस दौरान राष्ट्र प्रेमियों द्वारा जय जयकार किया गया. मुख्य अतिथि एवं विधायक अवध बिहारी चौधरी ने कहा कि देश की एकता एवं अखंडता के हमें अपना सर्वस्व त्यागने के लिए तैयार रहना चाहिए.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
a1
ads
WhatsApp Image 2020-11-09 at 10.34.22 PM
Webp.net-compress-image
a2

क्लब के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि भारतवर्ष के प्रथम चक्रवर्ती सम्राट चंद्रगुप्त मौर्य ने पूरे भारत को एक देश एक नक्शे पर लाने का कार्य किया था. वीरेंद्र प्रकृति ने कहा कि हमें यह प्रण लेना चाहिए कि देश की एकता एवं अखंडता के साथ कोई खिलवाड़ नहीं कर सके. इसकी रक्षा के लिए हमें सदैव तत्पर रहना चाहिए. इस अवसर पर भीष्म सिंह, अभिषेक रंजन, पूर्व विधायक रमेश कुशवाहा, प्रो. वीरेंद्र प्रसाद यादव, सुरेश चंद्र प्रसाद, मंटू, दरोगा, विरेंद्र, डा. रामसूरत, प्रभुनाथ, मुनि, राकेश भगत, राजेंद्र, चंदन कुशवाहा, अजय सिंह, लालबाबू सिंह, जोगिंद्र प्रसाद, राजू सिंह, राधेश्याम, किसमत खां, शेर खां, रविंद्र यादव, राजेंद्र सिंह, अभिमन्यु कुमार और शाक्य बाजागीं मौजूद थे.

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here