कोविड-19 के लिए आरटीपीसीआर एवं ट्रूनेट जांच के लिए किया गया लक्ष्य निर्धारित

0
  • सारण में 1000 आरटीपीसीआर तथा 200 ट्रूनेट जांच के लिए सैंपल कलेक्शन का निर्देश
  • राज्य स्वस्थ्य समिति के अपर कार्यपालक निदेशक ने जारी किया निर्देश
  • दूसरे राज्यों से आने वाली व्यक्तियों पर विशेष नजर

छपरा: जिले में कोरोना संक्रमण को लेकर विभाग सतर्क व सजग है। होली के दौरान काफी संख्या लोग अपने-अपने घर को लौट रहे हैं । ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने कोविड19 जांच के दायरे को बढ़ा दिया है। इसको लेकर राज्य स्वस्थ्य समिति के अपर कार्यपालक निदेशक केशवेन्द्र कुमार ने जिला पदाधिकारी और सिविल सर्जन को पत्र लिखकर आवश्यक दिशा निर्देश दिया है। जारी पत्र में कहा गया है कि कोविड-19 के लिए आरटीपीसीआर एवं ट्रूनेट जांच के लिए सैंपल ग्रहण के लिए संशोधित लक्ष्य निर्धारित किया गया है। ट्रूनेट टेस्ट के लिए लक्ष्य जिला को आवंटित है, इसे संबंधित लैब का लक्ष्य नहीं समझा जाए एवं ट्रूनेट की टेस्टिंग वहीं होगी जहां पर ट्रूनेट मशीन स्थापित की गयी है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

जिले में प्रतिदिन 1000 आरटीपीसीआर सैंपल ग्रहण करने का लक्ष्य निर्धारित

जिले में प्रतिदिन 1000 आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल कलेक्शन करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। लक्ष्य के अनुरूप प्रत्येक प्रखंडों को लक्ष्य निर्धारित किया गया है। वहीं ट्रूनेट टेस्ट के लिए जिले में प्रतिदिन 200 सैंपल जांच करने का लक्ष्य रखा गया है। जारी पत्र के माध्यम से निर्देश दिया गया है कि संबंद्ध लैब को निर्धारित संख्या में प्रतिदिन अचूक रूप से सैंपल भेजना सुनिश्चित करें। संबंधित लैब द्वारा जिला की पॉजिटिविटी दर को देखते हुए पूल टेस्टिंग का निर्णय लेकर आईसीएमआर के दिशा निर्देशों के आलोक में पूल टेस्टिंग का कार्य किया जाएगा।

रैपिड एंटीजन टेस्ट किट से प्रत्येक प्रखंड को कम से कम 100 सैंपल जांच करने का निर्देश

सिविल सर्जन डॉ जनार्दन प्रसाद सुकुमार ने बताया कि जिले में होली त्यौहार के मद्देनजर कोविड-19 के जांच के दायरे को बढ़ाया गया है और निर्धारित लक्ष्य को हर हाल में पूरा करने के लिए संबंधित पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया कि प्रत्येक प्रखंड में रैपिड एंटीजन टेस्ट किट से जांच के लिए 100 सैंपल जांच करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। निर्धारित लक्ष्य को हर हाल में पूरा करना है।

24 घंटे क्रियाशील है मेडिकल हेल्पलाइन नंबर

जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम अरविंद कुमार ने बताया कि कोरोना काल में ही जिले में टोल फ्री मेडिकल हेल्पलाइन सेवा की शुरुआत की गई थी। अभी भी यह सेवा 24 घंटे क्रियाशील है। अगर किसी व्यक्ति को कोविड-19 की जांच एवं इलाज से संबंधित किसी प्रकार की जानकारी लेनी हो तो वह नि:शुल्क हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर जानकारी ले सकते हैं। 18003456607 टोल फ्री नंबर पर कॉल कर चिकित्सकीय परामर्श तथा जांच एवं इलाज के लिए सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों, चिह्नित निजी स्वास्थ्य संस्थानों, निजी जांच केंद्रों की जानकारी ले सकते हैं।

ट्रेन से आने वाले यात्रियों की रैंडमली जांच

होली के मद्देनजर काफी संख्या में मजदूर व अन्य व्यक्ति अपने-अपने घर को लौट रहे हैं। ऐसे में महाराष्ट्र, केरल एवं पंजाब से आने वाली ट्रेनों के यात्रियों का रैंडम बेस में कोविड-19 जांच करने का निर्देश दिया गया है। इन राज्यों से आने वाले ट्रेनों के सबंध में भी दैनिक रूप से सूचना प्राप्त कर यात्रियों की रैपिड एंटीजन किट के माध्यम से रैंडमली जांच कराने एवं परिणाम के आधार उचित निर्णय लेने का निर्देश दिया गया है।