गांव-गांव जाकर स्कूल से वंचित बच्चों की पहचान कर शिक्षक कराएंगे नामांकन

0

परवेज़ अख्तर/सिवान:
शत प्रतिशत बच्चों को स्कूली शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से जिले में फिर से सघन नामांकन अभियान चलाया जाएगा। इस दौरान शिक्षक गांव-गांव जाकर बच्चों की उम्र पहचान कर स्कूलों में नामांकन कराएंगे और इसकी सूचना प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी के माध्यम से जिला एवं राज्य शिक्षा मुख्यालय को देंगे। इसको लेकर माध्यमिक शिक्षा के प्रधान सचिव ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को जिले में नामांकन अभियान चलाने का निर्देश जारी किया है। जिला शिक्षा पदाधिकारी मोतीउर्रहमान ने बताया कि जिले में 12 अक्टूबर तक सघन नामांकन अभियान चलाया जाएगा। इस दौरान विद्यालय पोषक क्षेत्र के सभी टोला, बसावट में विद्यालयों के शिक्षक, टोला सेवक एवं तालिमी मरकज के स्वयं सेवकों द्वारा गृहवार सर्वेक्षण किया जाएगा। विद्यालय के प्रधान शिक्षक द्वारा एक विस्तृत योजना तैयार कर वर्ग 1 में अनामांकित बच्चों का नामांकन उनके गृह पर जाकर करेंगे तथा नामांकित बच्चों को विद्यालय खुलने के पश्चात कक्षा में उपस्थित होने के लिए प्रेरित करेंगे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads

उन्होंने बताया कि 15 से 31 जुलाई तक अभियान के तहत 45 हजार 472 बच्चों का नामांकन किया गया था। शत प्रतिशत नामांकन सुनिश्चित करेंगे प्रधानाध्यापक : डीइओ ने बताया कि अभियान के दौरान वर्ग-1 में शत प्रतिशत नामांकन सुनिश्चित किया जाएगा। साथ ही प्राथमिक विद्यालयों में वर्ग पांच से प्रोन्नत छात्र-छात्राओं का शत-प्रतिशत नामांकन वर्ग छह में तथा मध्य विद्यालयों में वर्ग 8 से प्रोन्नत छात्र-छात्राओं का नामांकन माध्यमिक विद्यालय में वर्ग नवम में किया जाना है। उन्होंने बताया कि संकुल स्तर पर उपलब्ध प्राथमिक विद्यालयों में वर्ग 5 से प्रोन्नत छात्र-छात्राओं का आकलन कर छात्रों की सुविधानुसार उस क्षेत्र में अवस्थित मध्य विद्यालयों में नामांकन हेतु टैगिग किया जाएगा।

प्राथमिक विद्यालयों के प्रधान शिक्षक को निर्देशित किया कि ऐसे प्रोन्नत छात्र/छात्राओं का नामांकन नजदीकी मध्य विद्यालय में सूची तैयार कर प्रधानाध्यापक को सौंप देंगे। क्या कहते हैं जिम्मेदार : 12 अक्टूबर तक विशेष अभियान चलाकर बच्चों का नामांकन कराया जाएगा। जिले में 15 से 31 जुलाई तक चलाए गए अभियान के दौरान 45472 बच्चों का नामांकन हो पाया है। खासकर छूटे हुए प्रवासी लोगों के बच्चों का नामांकन प्राथमिकता के आधार पर किया जाएगा। इसको लेकर सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों को निर्देशित किया गया है। मोतीउर्रहमान, जिला शिक्षा पदाधिकारी, सिवान।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here