सुमंत को अपराधियों ने गोली मार सुला दी मौत की नींद!

0
sumant htya kand

बड़कागाँव में महावीरी मेला देखने आया था सुमंत

बाइक के पीछे बैठे अधेड़ बाइक से गिर हुआ घायल

परवेज़ अख्तर/सिवान:- सिवान में आये दिन हो रही हत्या से फिर से एक बार लोग दहशत के साये में जीने को मजबूर है। लगातार हो रही हत्या पर सुशासन सरकार की पुलिस शातिर अपराधियों के आगे बौनी साबित हो रही है।जिले में अपराधियों के उठे फन से पुलिस भी लाचार व बेबस दिख रही है। इसी कड़ी में शनिवार की संध्या जिले के सराय ओपी थाना के बड़कागाँव हाईस्कूल के परिसर में लगे महावीरी मेला देखने आए एक 22 वर्षीय युवक की गोली मार निर्मम हत्या कर डाली। हत्या की खबर मिलते ही आयोजित मेले में अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया।पल-भर में लोग तीतर-बितर होने लगे। तथा दहशत का महौल कायम हो गया।उधर घटना की सूचना पर मेले में तैनात स्थानिय पुलिस घटना स्थल पर पहुँची। पुलिस को देखते ही मौजूद लोग आग -बबूला हो गए।तथा पुलिस को शव उठाने से रोक दिया। बाद में आक्रोशितों द्वारा शव के साथ जमकर प्रदर्शन करने लगे।आक्रोशितों का गुस्सा तब और बढ़ा की जब पुलिस द्वारा जबरन शव उठाने का प्रयास किया जाने लगा।पुलिस आक्रोशितों पर हल्का बल का भी प्रयोग किया। घटना के सम्बंध में प्राप्त विवरण के मुताबिक जिले के सराय ओपी क्षेत्र के मटुक छपरा गांव के समीप बाइक सवार अपराधियों ने मेला घूमने आए एक बाइक पर सवार दो लोगों में से बाइक चला रहे युवक को गोली मारकर हत्या कर डाली।इस दरम्यान बाइक के पीछे बैठे एक अधेड़ बाइक से गिर कर गम्भीर रूप से घायल हो गया। मृतक की पहचान स्थानिय थाना के वैशाखी मौजे गांव के रामायण साह का पुत्र सुमंत कुमार(22 वर्ष) के रूप में की गई है।जबकि बाइक से गिरकर घायल की पहचान हरदिया गांव निवासी झमन प्रसाद कुशवाहा (50 वर्ष)के रूप में की गई है।दोनो लोग बड़कागाँव में लगे महावीरी मेला देखने आए हुए थे।कि तभी बिपरीत दिशा से आ धमके बाइक सवार अपराधियों ने बाइक चला रहे युवक को गोली मार दी।जिससे उसकी घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। घटना की सूचना पाकर सराय ओपी थाना की पुलिस मौके वारदात पर पहुँची।और आनन-फानन में घायल झमन को पुलिस की देख- रेख में इलाज हेतु सदर अस्पताल में भर्ती कराया।जहां उसका इलाज चल रहा है।उधर घटना की सूचना पाकर सदर अस्पताल में एएसपी जितेंद्र पांडेय दल-बल के साथ पहुँचे और घटना की जानकारी ली।घायल अधेड़ अर्धबेहोसी की आलम में था।इसलिए पुलिस को कुछ भी बयान नही दे सका।उधर मौत की सूचना पर मृतक के गांव के लोग धीरे-धीरे घटनास्थल पर दौड़ पड़े। बाद में दर्जनों की संख्या में पहुँचे लोग घटनास्थल पर करीब 2 घण्टे तक प्रशासन बिरोधी जमकर नारे भी लगाये।तथा अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े रहे।पुलिस घटनास्थल से शव उठाने का प्रयास कर रही थी।लेकिन ग्रामीण शव उठाने का विरोध भी कर रहे थे।बाद में एसपी नवीन चन्द्र झा के निर्देश पर एएसपी (सदर)जितेंद्र पांडेय दल-बल के साथ घटनास्थल पर पहुँचे।श्री पांडेय ने काफी मशक्कत के बाद आक्रोशितों को समझा बुझा मामले को शांत कराया।तथा पंचनामा के आधार पर शव बरामदगी के बाद शव को पोस्मार्टम हेतु सदर अस्पताल भेज दिया। बतादें की घटना को अंजाम देने वाले शातिर अपराधी हथियार लहराते हुए आसानी से भाग निकले।

डीएम के आदेश पर हुई रात्रि में ही हुआ पोस्मार्टम

गोली के शिकार सुमंत का शव का पोस्मार्टम डीएम के निर्देश के आलोक में शनिवार की देर रात्रि में ही कि गई।एएसपी जितेंद्र पांडेय ने बिधि ब्यवस्था के मद्देनजर गांव में पुलिस चौकसी बढ़ा दी है।पुलिस गांव व आस-पास के इलाकों में गश्त कर रही है।

परिजनों के चीत्कार से गांव में मातम

सुमंत के मौत के नींद सो जाने के बाद उसके परिजनों का रोते-रोते बुरा हाल हो गया है।परिजनों के हृदय बिदारक चीत्कार से सबका कलेजा पिघल जा रहा है।उपस्तिथ लोग भी परिजनों के आँखों से बहते आँसुओं को देख अपनी-अपनी आंसू को नही रोक पा रहे है।

क्या कहते है एएसपी

एएसपी जितेंद्र पांडेय ने कहा कि घटना में शामिल लोग किसी भी सूरत में बख्से नही जायेंगे।चाहे वो कितना भी रसूख वाला ब्यक्ति क्यों न हो।घटना में शामिल लोगों की गिरफ्तारी के लिए एक पुलिस टीम गठित कर छापेमारी जारी है।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here