पूर्व सांसद आनंद मोहन की रिहाई की मांग हुई तेज….समर्थक अब कोर्ट और सड़क, हर मोर्चे पर करेगा संघर्ष…

0

पटना: पूर्व सांसद आनंद मोहन की रिहाई को लेकर आगामी कार्यक्रम की सफलता को लेकर फ्रैंड्स आफ आनंद कार्यकर्ताओं की बैठक शनिवार को सुपौल में रतन कुमार सिंह की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक को संबोधित करते हुए फ्रेंड्स आफ आनंद के नेता अंशुमन मोहन ने कहा कि पूरा देश दुनिया जानती है कि डीएम जी कृष्णैया मामले में आनंद मोहन पूरी तरह से निर्दोष हैं। राज्य का कोई ऐसा नेता नहीं जो समय-समय पर इस सच्चाई का बयान न किया हो।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

अंशुमन ने कहा कि स्वयं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी कई बार उन्हें निर्दोष बताते हुए सार्वजनिक मंचों से उनकी रिहाई की घोषणा कर चुके हैं। लेकिन पिछले दिनों विधायक चेतन आनंद सहित प्रतिपक्ष के 2 दर्जन से अधिक विधायकों द्वारा जब बिहार विधानसभा में इस मामले का प्रस्ताव लाया गया तो जवाब में सरकार की मंशा स्पष्ट हो गई कि वह अब तक झूठ बोल रही थी और लोगों को गुमराह कर रही थी।

उन्होंने कहा कि कहा कि सरकार के इस अन्यायपूर्ण साजिश के विरोध में फ्रैंड्स आफ आनंद अब कोर्ट और सड़क दोनों मोर्चे पर संघर्ष करने का निर्णय लिया है। कोर्ट के स्तर पर तो हमारी तैयारी चल रही है लेकिन अब इस मुद्दे को जनता की अदालत में भी ले जाया जाएगा। इसको लेकर तैयारी भी की जा रही थी। लेकिन ऐन वक्त पर कोरोना संक्रमण के दस्तक दे देने से लागू लाकडाउन के कारण कार्यक्रम को स्थगित करना पड़ा।

पूर्व में घोषित सिंह गर्जना रैली अब 23 अप्रैल को कुंवर सकिह के विजयोत्सव दिवस पर पटना में आयोजित की जाएगी । इसके अलावा पूर्व सांसद आनंद मोहन के जन्म दिवस पर 28 जनवरी को उनके रिहाई को लेकर सोशल साइट पर ट्विटर ट्रेंड और संध्या में गरीबों के बीच कंबल वितरण, 29 जनवरी को आयोजित रैली के विभिन्न मुद्दों पर वर्चुअल मीटिंग की जाएगी। अंशुमन ने कहा कि लाकडाउन की समाप्ति पर जन अभियान की शुरुआत सुपौल के गांधी मैदान से की जाएगी ।जिसमें देश के कई जाने-माने हस्तियां शामिल होंगे।