बिना ऑक्सीजन के मरे मरीज के मामले में जिला टीम ने की जांच

0
  • आशा कार्यकर्ता ने डिलेवरी में अतिरिक्त रूपये लेने की शिकायत
  • पीएचसी में व्याप्त धांधली और चिकित्सकों की कमी पर स्थानीय लोगों की निगाहें वर्तमान राजद विधायक केदारनाथ सिंह के तरफ लगी है।

छपरा: मशरख पीएचसी में शनिवार की दोपहर जिला मलेरिया पदाधिकारी दिलीप कुमार सिंह ने एक सप्ताह पहले लखनपुर गांव में मारपीट की घटनाओं में बिना आक्सीजन और चिकित्सक के नही रहने से एक मरीज की मौत के मामले में जांच को औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान पीएचसी में हड़कंप मच गया। जिला मलेरिया पदाधिकारी ने पीएचसी में पहुंचते ही प्रसव कक्ष का जायजा लिया वही मौके पर मौजूद चिकित्सक डॉ रिजवान अहमद से पीएचसी की एक एक मामलों में गहनता से पूछताछ किया। पूछताछ के दौरान डिलेवरी रूम में मौजूद आशा कार्यकर्ता ने मरीजों ने पीएचसी प्रशासन के द्वारा डिलेवरी के दौरान अवैध रूपये वसूलने की शिकायत किया। वही उन्होंने पीएचसी प्रभारी के छुट्टी पर रहने के कारण फोन से बात कर मामले में जानकारी ली और साथ ही पीएचसी में उपलब्ध सुविधाओं को और सुदृढ़ करने की हिदायत दी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

मौके पर उपस्थित पंजी को देख चिकित्सकों की अनुपस्थिति पर नाराजगी जाहिर करते हुए डॉ एस के विद्यार्थी और डॉ पवन कुमार भारती की उपस्थिति काट दी। वही आपकों बता दें कि पीएचसी में बिहार विधानसभा चुनाव के पहले एक ही चिकित्सक की ड्यूटी थी पर उस दौरान प्रभारी डॉ अनंत नारायण कश्यप और डेन्टल चिकित्सक डॉ एस के विद्यार्थी की लगातार ड्यूटी से तबीयत बिगड़ जाने पर पीएचसी में स्वास्थय सेवा को सदृढ़ रूप से चलतें रहने के लिए अतिरिक्त दो चिकित्सकों की प्रतिनियुक्ति की गई पर अभी भी चिकित्सकों के लगातार फरार रहने के कारण स्वास्थ्य सेवाएं बाधित हो जा रही है।वही एमबीबीएस चिकित्सक के फरार रहने पर आरबीएसके चिकित्सकों के सहारे पीएचसी में सेवाएं बहाल रहती है तो नियमानुसार नही है। वही पीएचसी में व्याप्त धांधली और चिकित्सकों की कमी पर स्थानीय लोगों की निगाहें वर्तमान राजद विधायक केदारनाथ सिंह के तरफ लगी है।