छठ का त्यौहार लाए खुशियां अपार, अपनाए कोविड अनुरूप व्यवहार

0
  • उचित दूरी और सावधानी है जरूरी, तभी मनोकामनाएं होंगी पूरी
  • छठ घाट पर जाते समय मास्क का उपयोग जरूर करें
  • सुरक्षा के प्रति खुद बने जिम्मेदार

छपरा: वैश्विक महामारी कोरोना संकट के बीच लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा का त्यौहार मनाया जा रहा है। इस बार कोरोना संकट को लेकर कुछ पाबंदिया लगायी गयी है, जिसका अनुपालन करना हम सबकी जिम्मेदारी है क्योंकि सतर्कता और सावधानी हीं कोरोना संक्रमण से बचाव का एक मात्र उपाय है। छठ घाटों पर विशेष रूप से सावधानी बरतने की आवश्यकता है। इसको लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने भी पोस्टर जारी कर आमजनों से कोविड अनुरूप व्यवहारों को पालन करने का अनुरोध किया है। छठ घाटों के लिए घर से मास्क लगा कर निकलें। घाटों पर मास्क का प्रयोग अनवार्य है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

उचित दूरी और सावधानी है जरूरी, तभी मनोकामनाएं होंगी पूरी

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने पोस्टर के माध्यम से यह अपील की है कि कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए एक जगह भीड़ नहीं लगाएं। गंगा तट पर बड़ी संख्या में लोग जुटते हैं। इससे एक-दूसरे व्यक्ति में फैलने की आशंका है। लापरवाही की स्थिति में नतीजे खतरनाक हो सकते हैं। भीड़ नहीं लगेगी तो संक्रमण का खतरा भी कम होगा। इसलिए लोगों को दो गज की दूरी का पालन करना होगा। अर्घ्य देते समय भी दो गज की दूरी का पालन करना होगा।

स्वास्थ्य सेवा का भी इंतजाम

सिविल सर्जन डॉ माधवेश्वर झा ने बताया कि घाट पर बनाए गए नियंत्रण कक्ष में एक-एक चिकित्सक आवश्यक दवा व एंबुलेंस के साथ तैनात रहेंगे। इसके अतिरिक्त चंपानगर से लेकर सबौर के बीच श्रद्धालुओं के लिए चलंत एंबुलेंस की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। वहीं सदर अस्पताल में चिकित्सकों के साथ विशेष इंतजाम किया गया है।

घर में छठ मनाने की अपील

उधर दूसरी ओर डीएम सुब्रत कुमार सेन ने जिले के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वह लोगों से बाहर के बजाए घर में छठ मनाने को तैयार करें। डीएम ने कहा कि ऐसा करने से भीड़ नहीं होगी और कोरोना संक्रमण से बचाव भी होगा।

कोविड 19 के दौर में रखें इसका भी ख्याल

  • व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
  • बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
  • साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
  • छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंके.
  • उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
  • घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
  • बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें.
  • आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
  • मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
  • किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
  • कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
  • बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें