तरवारा में माशूका के प्यार को ठुकराने के बाद से दोनों में छिड़ी जंग, माशूका ने कर डाली आशिक का कत्ल 

0
  • घटना को अंजाम देने के बाद आरोपित माशूका ने स्थानीय थाने में किया आत्मसमर्पण
  • घटना: गरीबगंज गांव का

परवेज़ अख्तर/सिवान: जिले के जी.बी. नगर थाना क्षेत्र के गरीबगंज गांव में गुरुवार की देर रात एक माशूका के प्यार को ठुकराने के बाद ने अपने ही हाथों से आशिक के गले में फंदा लगाकर मौत के घाट उतार देने का एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। उक्त घटना की सूचना जब शुक्रवार की अलसुबह ग्रामीणों को लगी तो उक्त घटना जंगल में लगी आग की तरह धीरे-धीरे फैल गई तथा पूरे गांव में अटकलों का बाजार गर्म हो गया। उधर घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर श्री प्रमोद कुमार सिंह दलबल के साथ मौके वारदात पर पहुंचे। जहां पंचनामा के आधार पर मृत पड़े आशिक के शव को बरामद कर पोस्टमार्टम हेतु सिवान सदर अस्पताल भेज दिया। उधर पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही घटना के सही तथ्यों से पर्दा उठ पाना संभव हो पाएगा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

घटना को अंजाम देने वाली माशूका ने अपने आप को स्थानीय थाना में आत्मसमर्पण कर पुलिस पदाधिकारी के समक्ष कई ऐसे चौंकाने वाली तथ्यों का खुलासा किया है। बतादें कि माशूका विवाहिता है तथा आशिक अविवाहित। प्रेम की दीवानगी के नशे में चूर मृत आशिक की शादी हाल में ही होना सुनिश्चित था। लेकिन माशूका के इस करतूत ने उसके कई संजोय सपने को पल भर में बिखेर दिया। हालांकि पुलिस के समक्ष दी गई माशूका के बयानों की सत्यता की जांच पुलिस गहराई पूर्वक कर रही है। लेकिन अनुसंधान प्रभावित होने के कारण पुलिस कुुछ भी बताने से साफ साफ इंकार कर रही है। जबकि पुुुलिस हत्या में संलिप्त लोगों की तकनीकी अनुसंधान के जरिए पहचान करने में जुटी हुई। मृत आशिक का शव पुलिस ने माशूका के बेडरूम से  निकालकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेेजा है।

उधर उक्त घटित घटना के बाद मृतक के परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। मृतक की पहचान पचरुखी थाना क्षेत्र के बरतवलिया गांव निवासी नबीजान मियां का 22 वर्षीय पुत्र रमजान अली है। मृत युवक दो भाइयों में सबसे छोटा था। उधर घटना को अंजाम देने वाली महिला का कहना है कि रमजान अली जो शराब के नशे में मेरे घर में छत के रास्ते घुस गया।घर मैं अकेली सोई हुई थी कि इसी बीच उसने मेरेेे साथ जबरन दुष्कर्म करने का प्रयास किया।इसके बाद विरोध करते हुए नशे में धुत युवक के गले में दुपट्टे का फंदा लगाकर मौत के घाट मैंने उतार दिया। घटना को अंजाम देने के बाद सबसे पहले इस बात की जानकारी मैंने अपने सास सैफुल बेगम को दिया। उसके बाद थाने पहुंचकर पुलिस को अपनी आपबीती बताते हुए मामले का खुलासा किया। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए मृत पड़े युवक के शव  को महिला के बेडरूम से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।

बताया जाता है कि महिला के साथ युवक का तीन चार महीने से प्रेम प्रसंग का मामला चल रहा था। इसी सिलसिले में शादी के नियत से दोनों युगल प्रेमी घर छोड़कर जयपुर चले गये थे। इस मामले में खुदैजा बेगम के पति ने थाने में एफआईआर दर्ज कर शादी की नियत से अपहरण कर लेने का आरोप लगाया था। इस मामले में रमजान अली को आरोपित किया था। पुलिस दबिश के बाद दोनों प्रेमी युगल थाने में सरेंडर किए। इस दौरान खुदैजा बेगम ने पुलिस के समक्ष अपने प्रेमी के साथ रहने से इंकार किया था। इसके बाद से महिला के साथ युवक ने शादी करने के लिए दबाव बनाने लगा। साथ ही शादी नहीं करने पर उसके पति की हत्या करने की धमकी देने लगा।

महिला ने बताया कि मेरा पति कलामुद्दीन जो असम के गुवाहाटी में रहते है। जिसकी वजह से वह जबरन नाजायज संबंध बनाना चाहता था। प्रेम में पागल होकर महिला ने जमीन व जेवरात बेचकर युवक को दे दिया था। उधर युवक के परिजनों का कहना है कि हाल ही में मृत युवक रमजान अली की शादी होने वाली थी। इस बात की भनक प्रेमिका को लग गई थी। इसके बाद महिला ने युवक को मौत के घाट उतार दिया। इस मामले में इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि आरोपित महिला ने थाने में सरेंडर कर दिया है। मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है।