रात में मछली मारने के लिए घर से निकला था मछुआरा, सुबह धर्मावती नदी में मिला शव, गांव में पसरा मातम

0
nadi me duba

बक्सर: जिले के चक्की के भरियार पुल के समीप पुलिस ने एक 47 वर्षीय मछुआरे का शव बरामद किया है। मछली पकड़ने के दौरान डूबने से मछुआरे की मौत होने की बात सामने आ रही है। शव मिलने की खबर पर भरियार पुल के समीप लोगों की भीड़ जमा हो गयी। वहीं, मृतक का भरियार गांव मातम में डूब गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

मछली पकड़ने गया था, मिली लाश

चक्की प्रखंड के भरियार गांव में रहने वाले अधिकांश बिंद जाति का मुख्य पेशा मछली मारना है। मछली मारकर बिंद जाति के लोग परिवार का भरण-पोषण करते हैं। भरियार गांव निवासी स्व. बिरेंद्र बिंद का पुत्र सुखदेव बिंद मंगलवार की शाम पांच बजे यह कहकर निकला था कि भरियार पुल के समीप धर्मावती नदी में मछली पकड़ने जा रहे हैं।

परिजनों का कहना है कि दशहरा का त्योहार होने के कारण सुखदेव रात्रि के समय ही मछली पकड़ने निकल गया था। ताकि उसके बच्चे दशहरा का मेला देख सकें। जब देर रात सुखदेव नहीं लौटा, तो परिजनों की चिंता बढ़ने लगी। बुधवार की सुबह जब परिजन खोजते हुए भरियार पुल पहुंचे तो सुखदेव की लाश तैरते हुए मिली।

शव मिलने पर उमड़ी भीड़

धर्मावती नदी में शव मिलने की खबर पर आसपास के गांवों से काफी संख्या में लोग जमा हो गये। शव की पहचान सुखदेव बिंद के रूप में हुई। मौत की खबर आते ही भरियार गांव में मातम पसर गया। चार पुत्र और तीन बेटियों के पिता सुखदेव की मौत की खबर से परिवार सन्न रह गया।

पत्नी मीना देवी का रो-रोकर बुरा हाल था। शव मिलने की सूचना पर भरियार ओपी प्रभारी ज्ञान प्रकाश सिंह मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में ले लिया। ओपी प्रभारी ने बताया कि मृतक की डूबने से मौत हुई है। वहीं चंदा के समाजसेवी अजय गिरी ने मृतक के आश्रित को उचित मुआवजा देने की मांग की है।