बड़हरिया में पिकअप के धक्के से बच्ची की मौत, आक्रोशितों ने किया मुख्य पथ को जाम

0
accident

परवेज़ अख्तर/सिवान:
जिले के बड़हरिया थाना क्षेत्र के बड़हरिया-मीरगंज मुख्यमार्ग के लकड़ी दरगाह कैलगढ़ के बीच अनियंत्रित पिकअप ने एक बच्ची को कुचल दिया। इस दुर्घटना में घटनास्थल पर ही बच्ची की मौत हो गई। बच्ची के साथ टहल रही उसकी मां भी गंभीर रूप से घायल है। जिसका इलाज पीएचसी में चल रहा है। मृतका लकड़ी खुर्द शाही तकिया के शिवमंदिर पोखरा निवासी जितेंद्र मांझी की 12 वर्षीय पुत्री राधिका कुमारी थी। वहीं घायल जितेंद्र मांझी की पत्नी गीता देवी है। घटना के संबंध में बताया जाता है कि वह बुधवार की सुबह साढ़े चार बजे अपनी मां गीता देवी के साथ बड़हरिया-मीरगंज मुख्यमार्ग पर टहल रही थी। तभी, मीरगंज से बड़हरिया की तरफ जा रही तेज रफ्तार पिकअप ने कुचल दिया। टहल रही अन्य महिलाओं के चिल्लाने की आवाज सुनकर ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंचे जहां बच्ची की मौत हो चुकी थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

जैसे ही ग्रामीणों की घटना की जानकारी हुई ग्रामीण आक्रोशित हो गए और बड़हरिया-मीरगंज मुख्यमार्ग के लकड़ी खुर्द शाही तकिया शिव मंदिर के पास शव को सड़क पर रख जाम कर दिया। नाराज ग्रामीण वरीय पदाधिकारी को बुलाने, पीड़ित परिजनों को चार लाख मुआवजा देने व पिकअप की पहचान कर कार्रवाई की मांग पर अड़े थे। घटना की सूचना पर पहुंचे थानाध्यक्ष मनोज कुमार, एसआई राजेश कुमार, पूर्व जिला पार्षद संजय राम, रिंकू तिवारी ने आक्रोशित ग्रामीणों को समझा बुझा कर दो घंटे तक चले सड़क जाम को हटवाया। थानाध्यक्ष ने कहा कि जल्द पिकअप की पहचान करायी जाएगी।

गांव में पसरा मातमी सन्नाटा

12 वर्षीय बच्ची राधिका कुमारी की मौत के बाद उसके गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। जितेंद्र मांझी मजदूरी कर घर का पालन पोषण करते हैं। मृत बच्ची पांच बहनों में सबसे बड़ी थी जो मध्य विद्यायल कैलगढ़ में छठवीं वर्ग की छात्रा थी। छोटी बहन मधु कुमारी 10 वर्ष, प्रीति कुमारी 7 वर्ष, नीना कुमारी 6 वर्ष, नन्दनी कुमारी 4 वर्ष की है। घायल गीता देवी की हालत भी चिंताजनक बताई जाती है। पूर्व जिला पार्षद संजय राम ने जिला प्रशासन से पीड़ित परिजनों को चार लाख की सहायता राशि की मांग की।

इस मार्ग पर हमेशा होता हे हादसा

बड़हरिया-मीरगंज मुख्य मार्ग सड़क हादसा का सेफ जोन बनता जा रहा है। बता दें कि गत वर्ष पहले लकड़ी दरगाह के समीप रोहड़ा के आंनद कुमार को किसी अज्ञात वाहन ने रौंद दिया था। जिसकी मौत घटनास्थल पर हो गई थी। जिसको लेकर आक्रोशित ग्रामीणों ने सड़क जाम कर कार्रवाई की मांग की थी। वही एक वर्ष पहले जगतपुरा में तीन युवकों की मौत सड़क दुर्घटना में हुई थी। बड़हरिया-मीरगंज मुख्य मार्ग पर जगतपुरा से लेकर लकड़ी दरगाह के बीच कई सड़क दुर्घटनाएं हो चुकी हैं जिसमें कई की जान जा चुकी है।