कायस्थों ने की चित्रगुप्त पूजा, बहनों ने कूटा गोधन

0

परवेज अख्तर/सीवान :- जिले के दरौली प्रखंड मुख्यालय में मुरली श्रीवास्तव के दरवाजे पर मंगलवार को चित्रांश परिवारों द्वारा भगवान चित्रगुप्त की पूजा अर्चना धूमधाम के साथ मनाया। सैकड़ों को संख्या में चित्रांश परिवार ने पूजा अर्चना की । भगवान यमराज के साथ पाप और पुण्य का लेखा जोखा प्रस्तुत करने वाले भगवान चित्रगुप्त की यह पूजा कायस्थ समाज के लोगों के द्वारा प्रति वर्ष कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष के द्वितीया तिथि को मनाते है। आज के दिन कायस्थ समाज के लोग भगवान चित्रगुप्त की पूजा के निमित्त कलम दवात की पूजा करते हैं। कहा जाता है कि कायस्थ समाज के लोग अपनी लेखनी के लिये सदैव से जाने जाते है। जिस कारण समस्त कायस्थ समाज के लोग यह पूजा काफी विधि विधान के साथ करते है। ऐसा मान्यता है कि साल भर के आय व्यय का लेखा प्रस्तुत करने से भगवान प्रसन्न होते है। साथ ही आय, यश, बल और कृति सदा बढती है। दरौली के चित्रांश परिवारों ने चित्रगुप्त की पूजा कर आशीर्वाद और प्रसाद प्राप्त किया। कायस्थ परिवारों के सदस्यों में मुरली मनोहर श्रीवास्तव, सुनील कुमार श्रीवास्तव, संतोष श्रीवास्तव, पकज श्रीवास्तव, अतुल श्रीवास्तव, नीलू श्रीवास्तव, , सहित अन्य कायस्थ परिवारों ने भगवान चित्रगुप्त की पूजा कर सुख समृद्धि तथा ऐश्वर्य की कामना भगवान चित्रगुप्त से की। जहां एक ओर भगवान चित्रगुप्त की पूजा अर्चना की गयी। वहीं दूसरी ओर बहनों द्वारा भाई की सलामती के लिये गोधन कूट का त्योहार मनाया। बजरी, चना सहित अन्य कई सामग्री को लेकर गोधन कूटकर भाई की सलामती की दुआऐं मांगी। धूमधाम के साथ भैयादूज का पर्व मनाया गया। इस पवित्र पर्व के मौके पर बहनों ने भाई के माथे पर तिलक लगाकर लंबी उम्र की कामना की। भाई ने उनकी रक्षा का प्रण लिया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal