बेटी जनने पर ससुरालियों ने बहू की पिटाई कर घर से निकाला

0
  • घायल अवस्था में सदर अस्पताल में इलाज के बाद रेफर
  • पीड़िता ने दिया थाने में आवेदन,पुलिस कर रही है मामले की तहकीकात
  • तंग आकर मायके वाले हजपुरवा गांव में आकर मुखिया व सरपंच के साथ कई बार कर चुके हैं पंचायती
  • 6 वर्ष पूर्व हुई थी शादी
  • घटना: जी.बी. नगर थाना क्षेत्र के हजपुरवा गांव का

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के जी.बी.नगर थाना क्षेत्र के हजपुरवा गांव में बेटी जनने पर एक विवाहिता को उसके ससुराल के सभी सदस्यों ने पिटाई कर घर से निकाल दिया।घायल अवस्था में विवाहिता का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है।उक्त घटित घटना मंगलवार की है।सदर अस्पताल में ड्यूटी पर तैनात चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर रजी अहमद ने बताया कि पीड़ित महिला का पेट तथा कान के अंदरूनी हिस्से में गंभीर चोटें लगने से उसकी हालत चिंताजनक है।उन्होंने बताया कि कान में अंदरूनी चोट लगने के कारण उसे बेहतर इलाज के लिए ईएनटी  स्पेशल चिकित्सक के यहां रेफर कर दिया गया है।पीड़िता हजपुरवा गांव निवासी राम लखन महतो की पत्नी प्रेम माला चौहान है।जो दारौंदा थाना क्षेत्र के करसौत टोला बोधा छपरा गांव निवासी स्वर्गीय कृष्णा जी चौहान की पुत्री है।पीड़िता प्रेम माला चौहान द्वारा स्थानीय थाने में दिए गए आवेदन में यह उल्लेख किया है कि मेरी शादी हिंदू रीति रीवाज अंतर्गत 3.6.2015 को जी.बी.नगर थाना क्षेत्र के हजपुरवा गांव निवासी जीतन महतो के पुत्र रामलखन महतो के साथ हुई थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

beghar aurat

शादी के बाद से मेरा 1 पुत्र का जन्म हुआ जिसका नाम आर्यन कुमार है जो लगभग 4 वर्ष का है। उसके बाद मुझे एक पुत्री जन्म हुई जिसका नाम अनुरागा कुमारी है।जो करीब 1 वर्ष की है।पीड़िता ने अपने आवेदन में यह स्पष्ट रूप से उल्लेख किया है कि जैसे ही मुझे एक पुत्री का जन्म हुआ उसके बाद से मेरे ससुराल वालों ने मुझे तरह-तरह से यातना देना शुरू कर दिया।अंततःमेरे ससुराल वालों ने मुझे बुरी तरह से पिटाई कर घर से निकाल दिया।पीड़िता ने अपने आवेदन में यह स्पष्ट रूप से उल्लेख किया है कि जबसे मेरी पुत्री का जन्म हुआ है तब से मुझे तरह-तरह का यातना देकर मेरे ससुराल वाले मुझे मारते पीटते रहते थे।यहां बताते चलें कि इस घटना को लेकर मायके वाले पंचायत के मुखिया तथा सरपंच के साथ हजपुरवा गांव में आकर कई बार पंचायती की भी कर चुके हैं लेकिन मामला जस का तस बना रहा अंततः मंगलवार को उसके ससुरालियों ने विवाहिता को बुरी तरह से पिटाई कर घर से निकाल दिया।हार थाक के विवाहिता किसी तरह अपने मायके

दारौंदा थाना क्षेत्र के करसौत टोला बोधा छपरा गांव पहुंची जहां अपनी आपबीती अपने मायके वालों को सुनाई। आपबीती सुनने के बाद विवाहिता के बड़े भाई धर्मेंद्र चौहान अपनी बहन को लेकर स्थानीय जी.बी.नगर थाना पहुंचे जहां मौजूद पुलिस पदाधिकारी द्वारा कहा गया कि पहले पीड़िता का इलाज करवाइए।उसके बाद उसके भाई धर्मेंद्र चौहान घायल अवस्था में अपनी बहन को लेकर सिवान सदर अस्पताल पहुंचे।जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसके पेट तथा कान में अंदरूनी चोट लगने के कारण मौजूद चिकित्सक ने उसे बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया।इस मामले में पीड़िता ने अपने पति रामलखन महतो,देवर बबलू महतो समेत अन्य को आरोपित किया है।पीड़िता द्वारा अपने दिए गए आवेदन में किसी अनहोनी घटना घटित हो जाने का भी अंदेशा जाहिर किया है।वहीं पुलिस आवेदन प्राप्त होते ही मामले की तहकीकात में जुटी हुई है।