आखिरी अल्फाज……अल्लाहो अकबर…….अल्लाहो अकबर

0

मिस्र से तालीम लेकर लौटे तो अजहरी मियां कहलाए

ताजुश्शरिया हजरत अल्लामा मुफ्ती मोहम्मद अख्तर रजा खां अजहरी के निधन पर शोक की लहर

परवेज़ अख्तर/सीवान:- आला हजरत खानदान में पैदा हुए ताजुश्शरिया हजरत मौलाना अख्तर रजा खां अजहरी मियां की पूरी जिंदगी मसलके आला हजरत को आगे बढ़ाने में गुजरी। आला हजरत खानदान में मजहबी तालीम हासिल करने वाले लोगों में वह बचपन से ही अव्वल रहते थे। उनकी शुमारी उर्दू, फारसी और अरबी के बड़े आलिमों में होती थी। आला हजरत मौलाना अहमद रजा खां की अनगिनत किताबों को उन्होंने उर्दू में तर्जुमा किया था। अजहरी मियां की नातिया शायरी तो देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी काफी पसंद की जाती है। वही शुक्रवार को हुजूर ताजुश्शरिया हजरत अल्लामा मुफ्ती मोहम्मद अख्तर रजा खा अजहरी के निधन पर जहां पूरा देश ग़म में डूबा हुआ है। वही दूसरी ओर उनके निधन पर शोक संवेदना व्यक्त करने वालों का तांता लगा हुआ है। शनिवार को जिले के कई मस्जिदों में नमाज़ जोहर बाद जिले के कई ओलमा व सोअराओं ने उन्हें जन्नत में आला से आला मुकाम अता हो इसके लिए दुआ की गई।बतादें की उत्तर प्रदेश के बरेली शहर में उनके उनके आवास पर अजहरी गेस्ट हाउस में बीमारी के कारण शुक्रवार को निधन हो गया था।इसी कड़ी में उनके निधन पर जिले के तरवारा बाजार में मदरसा जामिया बरकातिया अनवारुल उलूम के प्रागण में हेडमास्टर मौलाना हामिद रज़ा की सेदारत में एक शोक सभा का आयोजन किया गया।janaja इस मौके पर जदयू के वरिष्ठ नेता अब्दुल करीम रिज़वी ने कहा की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शैक्षणिक और सामाजिक तथा इस्लामिक जगत को उनके निधन पर अपूरणीय क्षति हुई है। अमन चैन के पैरोकार के रूप में हमने एक बड़ी शख्सियत को खो दिया है वह अल्पसंख्यकों के उत्थान के लिए हमेशा प्रयासरत करते रहें इस वक्त के बहुत बड़े मुजद्दिद व आलिम ए दीन हुजूर ताजुश्शरिया इस दुनिया से रुखसत होने पर इस मुल्क के तमाम सुन्नी जमात के ऊपर गमों का पहाड़ टूट पड़ा है ऐसा लगता है कि जमात का सूरज डूब गया। इस मौके पर संवेदना एवं दुख व्यक्त करने वालों में क़ौमी इत्तेहाद मोर्चा सीवान के सदर मौलाना मजहरुल कादरी, मौलाना इस्तेयाक रज़ा कादरी, मौलाना हामिद शाह, मौलाना मोहम्मद अली, मौलाना एखलाक कादरी, मौलाना नूरुद्दीन अंसारी मिसबाही, हाफिज तनविरुल कादरी, हजरत मौलाना गुलाम मुस्तफा रूही ,मौलाना सबा मोबशीर , हाफिज नौशाद, हाफिज कैस रजा, मौलाना अब्दुल मोबीन, हाफिज तौफीक हाफिज मकसूद, हाफिज मुजाहिद रजा, मोहम्मद नूरैन मौलाना लियाकत अली, मौलाना हाशिम, मौलाना महमूद आलम, मौलाना नौशाद ज़ैनुद्दीन मिसबाही, मुस्तफा अंसारी, हारून, कलीम बाबू,आदि शामिल है।

maulana
सिवान के उलेमाओं ने भी की शिरकत

ज़रूरी सूचना

बरेली पुलिस प्रशासन द्वारा बनाया गया ट्रैफिक मैप,
दरगाह आला हज़रत, पहुँचने बाले तमाम मुरीदीन को कोई दिक्कत न हो, इसको लेकर कोतवाली पुलिस व ट्रैफिक पुलिस ने मुरीदीन के लिए पार्किंग की उचित व्यवस्था की है,
1 पार्किंग विशप मंडल ग्राउंड सिविल लाइंस,
2 पार्किंग मॉल गोदाम सिटी स्टेशन के पास,
3 पार्किंग रेलवे मनोरंजन चौपला चौराहा के पास,
अगर किसी मुरीदीन को कोई परेशानी हो तो वह दरगाह आला हज़रत से जुड़े लोगों से संपर्क कर सकते है

सम्पर्क सूत्र

8218139407 अब्दुल हलीम खान रज़ा ( प्रबकता )
9897750191 चप्पा भाई
8532812505 हनीफ़ रज़ा
9897469442 हाफिज सलीम
9152475898 राशिद रज़ा
9897354194 महमूद भाई
8273325545 ताज खान
9012418771 इवने हसन
9319138675 साजू भाई
9760821224 हाफ़िज़ इमरान रज़ा बरकती
9528746218 जुल्फिकार रज़ा

वही उनके सुपुर्दे खाक में शामिल होने के लिए लखनऊ से बरेली शरीफ़ के लिए ट्रेन

  • 13019 – बाघ एक्सप्रेस-
    रात में लखनऊ से 12:25 पे बरेली के लिए।
  • 15005- गोरखपुर एक्सप्रेस
    सुबह 3 बजे लखनऊ से
  • 15715- ग़रीब नवाज़ एक्सप्रेस
    सुबह 4:55 पे लखनऊ से
    15909- अवध एक्सप्रेस
    सुबह 5:35 पे लखनऊ से
  • 13429- मालदा एक्सप्रेस
    सुबह 5:50 पे लखनऊ से
  • 14307- प्रयाग एक्सप्रेस
    सुबह 6:40 पे लखनऊ से
  • 14235- वाराणसी एक्सप्रेस
    सुबह 7:05 पे लखनऊ से
  • 12327 उपासना एक्सप्रेस
    सुबह 7:30 पे लखनऊ से
  • 54377 प्रयाग एक्सप्रेस
    सुबह 8:20 पे लखनऊ से
  • 24369- त्रिवेणी एक्सप्रेस
    सुबह 8:45 पे लखनऊ से
  • 13151 जम्मू तवी एक्सप्रेस
    सुबह 10:45 पे लखनऊ से

और ज्यादा जानकारी के लिए संपर्क करें-
डॉ0 शकील अहमद बरकाती कानपुर
मोबाइल नंबर 9005029786

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here