हसनपुरा में महिला वोटरों की सुबह से शाम तक लगी रही कतार

0

12 पंचायत के 171 बूथों पर हुआ मतदान

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

चुनाव को लेकर सभी पदाधिकारी चौकस

परवेज अख्तर/सिवान: त्रिस्तरीय आम पंचायत चुनाव 2021 के तहत तीसरे चरण का मतदान शुक्रवार को हसनपुरा में कड़ी सुरक्षा के बीच देर शाम शांतिपूर्ण सम्पन्न हो गया। क्षेत्र के 12 पंचायत के 171 बूथों पर सुबह 7 बजे से मतदान शुरू हुआ। जहां मतदाता मत देने के लिए कतार में खड़े दिखे गए। खासकर महिला वोटरों की लंबी कतार सुबह से शाम तक हर बूथ पर देखने को मिली। वहीं कुछ मतदान केंद्रों पर ईवीएम खराबी के चलते काफी देर से मतदान शुरू हुआ। सुबह 7 बजे से ही कुछ बूथों को छोड़ सभी बूथों पर मतदान चालू हो गया। ईवीएम की गड़बड़ी से कहीं कहीं मतदान देर से शुरू हुआ। वहीं उसरी खुर्द के 133 बूथ पर 4 बजे तक 838 में 300 मत, 134 बूथ पर 632 मतों में 277 मत डाले गए थे। वहीं क्षेत्र के लगभग सभी बूथों पर शाम 5 बजे के बाद भी मतदाताओं की लंबी लंबी कतार देखने को मिली। जहां 5 बजे तक क्षेत्र में 45 प्रतिशत मत डाले गए थे। वहीं देर शाम तक कुछ बूथों पर वोटरों की भीड़ लगी रही। मौके पर बीडीओ राजेश्वर राम, सीओ प्रभात कुमार, बीईओ डॉ. राजकुमारी, पंचायती राज पदाधिकारी शंभु कुमार, जेएसएस अभय मिश्र, प्रधान लिपिक अखिलेश्वर मिश्र, जेई बलिंद्र कुमार पंडित, प्रमोद कुमार, अब्दुर्रहमान अंसारी थे।

बोगस वोट को लेकर प्रत्याशी पुलिस से उलझे

हसनपुरा प्रखंड के पकड़ी पंचायत के शेखपुरवा मतदान केंद्र संख्या 173 व 174 पर बोगस वोट को ले प्रत्याशी व समर्थक पुलिस प्रशासन से उलझ गये। इस दौरान पुलिस ने प्रत्याशी व समर्थकों पर जमकर लाठियां बरसा कर खदेड़ दिया। इससे प्रत्याशी व समर्थक आक्रोशित होकर पुलिस पर पत्थरबाजी शुरू कर दिए। जिसके चलते पुलिसकर्मी व अन्य को चोटें आयीं। कुछ प्रत्याशी व समर्थकों का कहना था कि दोनों बूथों पर एक मुखिया प्रत्याशी व एक जिला परिषद प्रत्याशी के पक्ष में बोगस वोट पड़ रहा है। इसी को लेकर अन्य प्रत्याशियों ने मतदान केंद्र को रद्द कराने की मांग की। तभी कुछ समर्थक प्रशासन से उलझ पड़े। जहां पुलिस को बल का प्रयोग किया गया। इस स्थिति को देख स्थानीय प्रशासन ने वरीय पदाधिकारी को सूचना दी। सूचना मिलते ही एसपी अभिनव कुमार, एसडीपीओ जितेंद्र पांडेय, एसडीओ रामबाबू बैठा, इंस्पेक्टर रणधीर कुमार ने मौके पर पहुंच को मामले की जांच की।