थाना के बैरक से ही सिपाही बेचता था विदेशी शराब…सिपाही गिरफ्तार, थाना प्रभारी समेत छह पुलिसकर्मी निलंबित….

0

समस्तीपुर: बिहार में शराबबंदी को सफल बनाने के प्रयासों के बीच पुलिस वाले ही इसे असफल बनाने में लगे हैं. ऐसे ही एक मामले में गुरुवार को समस्तीपुर में एक सिपाही को भारी मात्रा में शराब के साथ गिरफ्तार किया गया है. आरोपी सिपाही जितेंद्र कुमार सिंह जीआरपी थाने में तैनात था. उसे 279 बोतल शराब के साथ बैरक से गिरफ्तार किया गया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

गुप्त सूचना के बाद रेल डीएसपी मुजफ्फरपुर और रेल डीएसपी समस्तीपुर ने संयुक्त रूप से छापेमारी की. छापेमारी में सिपाही के पास से 64 बोतल शराब बरामद हुई. समस्तीपुर के रेल एसपी अशोक कुमार सिंह ने जितेन्द्र के पास से शराब बरामद होने की पुष्टि की. रेल एसपी इस मामले को गंभीरता से लेते हुए जवान को जेल और थाना अध्यक्ष को निलंबित कर दिया है।

पुलिस लगातार शराब को लेकर छापेमारी की जा रही है. माफियाओं में इस पुलिसिया कार्रवाई से हड़कंप मचा हुआ है. बड़ी संख्या में कारोबारियों पर नकेल कसने का काम किया गया लेकिन जब पुलिस वाले शराब तस्करी में शामिल हो जाए तो शराबबंदी की खोखली दलील साबित हो जाती है।

समस्तीपुर जिले में शराब को लेकर कई थाना अध्यक्ष पर कार्यवाही भी हो चुकी है. कुछ दिन पूर्व ही विभूतिपुर थाना में पदस्थापित ASI को SP मानवजित सिंह ढ़िल्लों ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. वहीं गुरुवार सुबह समस्तीपुर रेल पुलिस बैरिक में मुजफ्फरपुर रेल डीएसपी, समस्तीपुर रेल डीएसपी ने छापेमारी की जिसमें जितेन्द्र को शराब के साथ गिरफ्तार किया गया।

मिली जानकारी के अनुसार बुधवार रात रेल पुलिस ने शराब के साथ एक धंधेबाज को पकड़ा था। लेकिन बाद में आरोपित को छोड़ दिया गया और शराब रख ली गयी। इसकी सूचना मिलने पर रेल एसपी अशोक कुमार सिंह ने छापेमारी टीम गठित की। टीम में समस्तीपुर रेल डीएसपी नवीन कुमार मिश्र, मुजफ्फरपुर मुख्यालय डीएसपी अतनू दत्ता, इंस्पेक्टर अच्छे लाल यादव, कामेश्वर दास, हसनपुर रेल थानाध्यक्ष केदार प्रसाद आदि को शामिल किया गया।