अंडरवियर में दिखने और हंगामा करने वाले JDU विधायक की मुश्किलें बढ़ी, पुलिस के हाथ लगा तेजस राजधानी एक्सप्रेस का Video

0

पटना: गोपालपुर से जेडीयू विधायक गोपाल मंडल की मुश्किलें अब और बढ़ने वाली हैं। दिल्ली में जहां उनके खिलाफ आईपीसी की कई धाराओं और एससी एसटी अत्याचार निवारण कानून के तहत दर्ज कराया गया है। वहीं, अब उनका घटना वाले दिन का वीडिया भी पुलिस के हाथ बतौर सबूत लगा है। तेजस राजधानी एक्सप्रेस में सफर के दौरान अंडरवियर में दिखने और हंगामा करने वाले जदयू विधायक पर दर्ज एफआईआर का अनुसंधान शुरू हो चुका है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.16.03 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.24.37 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.13.39 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.18.57 PM

रेल पुलिस ने आरा रेल पुलिस ने रेलवे से संपर्क करने के बाद घटना के दिन का सीसीटीवी (CCTV) फुटेज पुलिस ने हासिल कर लिया है और अब उस मामले की पूरी छानबीन की जा रही है। रेल एसपी विकास वर्मन के मुताबिक जांच के दौरान हर एक बिंदु को ध्यान से देखा और खंगाला जा रहा है। भागलपुर के गोपालपुर विधानसभा सीट से विधायक गोपाल मंडल पर आईपीसी की धारा 504, 290, 379 और 34 के अलावा 3 (R) (S) SC/ST अत्याचार निवारण के तहत केस दर्ज हुआ है।

वहीं, तेजस के कैमरों को भी खंगाला जा रहा है। हाथ लगे एक वीडियो पर विधायक अंडरवियर पहने आराम से जाते हुए दिखाई दे रहे हैं। इस वीडियो में विधायक की सफाई की पोल खुलते दिखाई दे रही है। दरअसल, विधायक ने मामले पर सफाई देते हुए कहा था कि ट्रेन में उनका पेट खराब हो गया था। अगर वे जल्दी से न जाते तो सीट गंदी हो जाती। लेकिन हाथ लगे वीडियो में ऐसा नहीं है। वे आराम से टहलते हुए दिखाई दे रहे हैं।

रेल एसपी विकास बर्मन के निर्देश पर आरा जीआरपी में विधायक गोपाल मंडल समेत 4 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। नामजद में विधायक के अलावा कुणाल सिंह, दिलीप कुमार, विजय मंडल शामिल हैं। पीड़ित प्रह्लाद पासवान ने आरोप लगाते हुए आवेदन दिल्ली स्टेशन पर दिया था। आरोप हैं कि उसके साथ मारपीट, सोने की चेन की लूट और गाली-गलौज के साथ-साथ जाति सूचक शब्दों का प्रयोग किया गया। पुलिस पूरे मामले पर कार्रवाई करने के लिए जांच कर रही है। मौके पर मौजूद अन्य यात्रियों को गवाही के लिए बुलाने की प्रक्रिया भी चल रही है।