प्रेमिका से मिलने गए युवक को गांव वालों ने दी ऐसी सजा कि खुशी से खिल उठा चेहरा, कहा- थैंक यू

0
premi yugal

पटना: रविंद्र ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि शनिवार की शाम उसकी जिंदगी बदल जाएगी। ‘शनि’ इतने प्रसन्‍न हो जाएंगे कि उसकी मनोकामना एक झटके में पूरी हो जाएगी। इतना ही नहीं, महीनों से पनप रही आस को पूरा करने में पूरी कायनात जुट जाएगी। रविंद्र बहुत खुश है। कह रहा है कि ऊपर वाले प्‍यार की ऐसी सजा हर आशिक को देना।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

अपनी प्रेमिका से मिलने कुरमावां जाना नदरपुर गांव के रविंद्र कुमार को शनिवार को महंगा पड़ गया। प्रेमिका के स्वजनों ने दोनों को कुरमावां के नजदीक एक साथ बैठे देखा तो उन्हें पकड़ लिया। फिर पूछताछ का सिलसिला शुरू हुआ। प्रेमी रविंद्र कुमार ने अपना घर नदरपुर बताया। इसके बाद उसने अपनी प्रेमिका गौरी उर्फ काजल से प्रेम करने की बात स्वीकारी। उसने कहा कि कई माह से हम एक-दूसरे से प्रेम कर रहे है। इसके कारण कई बार आपस में मुलाकात भी हुई है।

गौरी उर्फ काजल कुरमावां गांव की निवासी है। प्रेमी-प्रेमिका के बालिग होने के कारण ग्रामीणों ने दोनों से शादी के बारे में राय ली। इस पर प्रेमी-प्रेमिका ने हामी भरी। प्रेमिका के पिता और उसके स्वजनों को बुलाया गया और प्रेमी के स्वजनों को भी सूचित किया गया। लेकिन लड़के के स्वजन नहीं पहुंचे। प्रेमिका के स्वजन और स्थानीय लोगों ने कुरमावां के बहेराडीह टोला के शिव मंदिर में दोनों की शादी करवा दी। उसके बाद दोनों को शेरघाटी नोटरी के यहां शपथ पत्र बनवाकर स्वेच्छा से शादी करने की बात लिखाया गया।

प्रेमी-प्रेमिका से पति-पत्नी बने गौरी व रविंद्र को देखने के लिए मंदिर में भीड़ लगी थी।गौरतलब है कि पहले भी बिहार के कई गांव के लोगों ने सामाजिक परिवेश में इस तरह का कदम उठाया है। इससे ऑनर किलिंग की घटनाएं कम गई हैं। साथ ही प्रेमी जोड़े सुखी-सुखी दांपत्‍य जीवन व्‍यतीत कर रहे हैं। इस तरह की पहल को पुलिस-प्रशासन ने भी जायज ठहराया है।