बर्तवलिया के युवक ने दहेजमुक्त विवाह की ठानी, लोगो ने सराहा

0

वर पक्ष सीवान के तो वधु पक्ष गोपालगंज के

बिना तामझाम के तिलक की रस्म पूरी

परवेज अख्तर/सिवान :- बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार की दहेजबंदी की पहल अब धीरे-धीरे रंग लानी शुरू कर दी है. समाज के लोग अब दहेजबंदी को ले जागरूक होते दिख रहे है। इसी कड़ी में सिवान जिले के पचरुखी प्रखंड के बर्तवलिया गांव में हुई दहेजमुक्त तिलक पुरे प्रखण्ड क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। यहाँ बता दें कि ज़िले के पचरुखी प्रखंड के बर्तवलिया गांव निवासी रामप्रवेश यादव के पुत्र आजाद यादव की शादी बिना किसी तामझाम और बिना किसी दहेज़ के हो रही है जिसमे तिलक का रस्म बीते 4 मार्च को संपन्न हुआ वही आजाद और निशा आगामी 8 मार्च को बिना किसी तामझाम के परिणय सूत्र में बंधेंगे। जिसकी सराहना समाज में चंहुओर हो रही है।

बता दे की आजाद यादव की शादी गोपालगंज जिले के बथुआ बाजार निवासी ललन प्रसाद यादव की पुत्री निशा के साथ हो रही है। मालूम हो की दहेज को ठुकरा कर वर ने सबसे पहले शादी की ठानी थी उसके बाद उसके घर वाले भी ख़ुशी मन से राजी हो गये। इस शादी के संबंध में लड़के के पिता रामप्रवेश यादव का कहना है कि मैं अपने पुत्र की शादी बिना किसी तामझाम और दहेज़ के संपन्न करा रहा हूँ और समाज में व्याप्त दहेज़ के कलंक को मिटाने के लिए एक कदम उठाया हूँ और मुझे आशा है कि इस पहल का अनुसरण समाज के और लोग भी करेंगे और इस दहेज़ रूपी कोढ़ को समाप्त करने में अपनी-अपनी भागीदारी सुनिश्चित करेंगे। इस शादी को ले जिले में चर्चाओं का बाजार गर्म है और सभी इस शादी की पुरजोर सराहना कर रहे है।

Loading...