उत्तर प्रदेश से कटिहार जा रहे तीस मजदूरों को सीवान जंक्शन पर रोका गया

0
siwan jn

श्रमजीवी पत्रकार यूनियन एवं श्री माता वैष्णो देवी संगठन ने कराया भोजन

परवेज अख्तर/सीवान:- वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर लगातार बढ़ रहे लॉक डाउन ने अब मजदूरों का धैर्य समाप्त कर दिया है । कुछ दिनों तक ठेकेदार और कार्य कराने वाले मालिक तो खाने के लिए पैसा देते रहें लेकिन बाद में जब उन्होंने पल्ला झाड़ लिया तो मजदूर अब अपने घर की ओर रुख कर दिए हैं । रोज भारी संख्या में रेलवे लाइन पकड़कर लोग अपने-अपने घरों को जा रहे हैं जिन्हें जीआरपी रोककर क्वॉरेंटाइन सेंटर में भेजने का कार्य कर रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

बृहस्पतिवार को भी 30 मजदूरों के लिए श्रीमाता वैष्णो देवी दर्शन समिति व श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के तत्वावधान में भूखे को भोजन कराया सीवान स्टेशन के सरकुलेटिंग एरिया में आसपास के गरीबों व जरुरमंदों को 31 वें दिन भी बुधवार की रात पॉकेटबंद भोजन दिया गया। निर्धारित समय के अनुसार समिति के सदस्य और पत्रकार साथी पहुंचे और सोसल डिस्टेंस का ख्याल रखते हुए पॉकेटबंद भोजन का वितरण किए। एक माह पूरे होने पर समाजसेवी श्रीनिवास यादय व विकास कुमार सिंह जीशु ने समिति के सदस्यों व पत्रकारों को अंग वस्त्र से सोसल डिस्टेंस का पालन करते हुए सम्मानित किए। समिति द्वारा गरीबों के लिए किए जा रहे कार्य की सराहना की।

उन दोनों ने कहा कि भूखे को भोजन कराना बड़ा ही पुनित कार्य है। लॉक डाउन की वजह से जहानाबाद के सिकंदरा गांव के दो दर्जन मजदूर और बच्चे फंस गए थे। वे पैदल ही जहानाबाद जाने के लिए निकल पड़े थे। सीवान स्टेशन पर इन मजदूरों को दोपहर में सतुई का पॉकेट खाने के लिए दिया गया। बच्चों को बिस्कूट का पॉकेट दिया गया। फिर रात में भी इन मजदूरों और बच्चों को भोजन दिया गया। इधर, गुरुवार को भी कटिहार व वेस्ट बंगाल के 30 मजदूरों को सीवान स्टेशन पर भोजन कराया गया। यूपी के देवरिया जिले के तार से 30 मजदूर पैदल ही कटिहार व मालदा जाने के लिए सीवान स्टेशन पहुंचे। वहां पर जीआरपी ने रोककर बैठाया।

सभी के भूखे होने पर जीआरपी प्रभारी मो. इमरान आलम के अनुराेध पर श्रीमाता वैष्णो देवी दर्शन समिति व श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के तत्वावधान में इन सभी को सुबह में सतुई का पॉकेट दिया गया। साथ ही रात में भी उन्हे भोजन कराया गया। वे लॉक डाउन के पहले ही ही यूपी के लार में रेलवे लाइन के मरम्मत कार्य में ठेकेदार के अंदर काम कर रहे थे। लेकिन लॉक डाउन में काम बंद होने की वजह से वे अपने घर पैदल ही जा रहे थे। इसी दौरान सीवान स्टेशन पर जीआरपी की नजर पड़ गई। जीआरपी ने इसकी सूचना जिला प्रशासन को दे दी है।

इस मौके पर एनई रेलवे मजदूर यूनियन सीवान शाखा के मंत्री विनोद रंजन, आरपीएफ के इंस्पेक्टर अजय कुमार सिंह, डीएवी पीजी कॉलेज के प्राचार्य के प्राचार्य डॉ. अजय कुमार पंडित, एनवाईके के जिला युवा समन्वयक कार्तिक सिंग्ला, डॉ. केपी सिंह, श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के अध्यक्ष मिथिलेश कुमार सिंह, महासचिव अरविंद कुमार पांडेय, अमरनाथ शर्मा, आकाश कुमार, मणिकांत पांडेय, अरविंद कुमार पाठक, सचिन कुमार, गोल्डेन पांडेय, बिपिन सिंह, राजीव कुमार सिंह, संतोष कुमार सिंह, प्रो. संदीप यादव, अभिषेक सोलंकी आदि मौजूद थे