तीन दिन पूर्व बम फोड़ किया था ट्रायल

0
bam

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के सिसवन क्षेत्र के चैनपुर बाजार में नवदुर्गा मेडिकल स्टोर के ठीक सामने मिले बम के मामले में पुलिस ने जिन तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया है उनके एक का जंक्शन के एक नंबर प्लेटफॉर्म पर चाय पानी का स्टॉल है। वहीं कुछ सफाई कर्मियों ने बताया कि तीन दिन पूर्व स्टेशन से दक्षिण दिशा में एक बम को फोड़ कर कुछ संदिग्धों ने ट्रायल भी किया था। जिससे आसपास के लोगों में सनसनी फैल गई थी। इधर इस मामले में एक और जानकारी मिली है कि आरपीएफ पोस्ट में जिला पुलिस ने फोन कर आरपीएफ इंस्पेक्टर अजय कुमार सिंह से पकड़े गए युवक के बारे में जानकारी ली थी। आरपीएफ इंस्पेक्टर ने बताया कि फोन पर उक्त युवक के आपराधिक इतिहास के बारे में जानकारी ली गई थी।

बम डिफ्यूज होने के बाद लोगों ने ली राहत की सांस

सिसवन थाने के चैनपुर बाजार स्थित नवदुर्गा मेडिकल स्टोर के ठीक सामने मिले बम को मुजफ्फरपुर से आई बम निरोधक दस्ते की टीम ने डिफ्यूज किया। बम निरोधक दस्ता मंगलवार की शाम करीब 4 बजे चैनपुर पहुंची और बम को अपने कब्जे में लेकर चैनपुर से एक किलोमीटर दूर उत्तर- पूरब चंवर में ले जाकर बम को डिफ्यूज किया। इस दौरान बम निरोधक दस्ते की टीम के पास मीडिया एवं आमजनों के आने-जाने पर रोक लगा दी गई थी। बम के डिफ्यूज होने से स्थानीय लोगों ने राहत की सांस ली। ज्ञात हो कि मंगलवार की सुबह चैनपुर बाजार स्थित नवदुर्गा मेडिकल के सामने दो बम बरामद हुआ था, जिसके चलते पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई थी। बम मिलने के बाद क्षेत्र में कई तरह की चर्चाएं हो रही थी। बम वाली जगह से ही तीन संदिग्ध युवकों को हिरासत में लिया गया था। तीनों संदिग्ध छपरा जिले के भगवान बाजार थाना निवासी हैं। तीनों को बुधवार को जेल भेज दिया गया।

बम मिलने से अफवाहों का बाजार गर्म

सिसवन प्रखंड के चैनपुर मे बम मिलने के बाद अफवाहों का बाजार काफी गर्म है। कुछ लोगों के अनुसार अपराधी सिसवन दक्षिणाखंड में फिर से सक्रिय होने लगे हैं। कुछ लोगों ने बताया कि बम किसी बड़ी वारदात या किसी घटना को अंजाम देने के लिए रखा गया था। हो सकता है कि चैनपुर के व्यवसायियों में फिर से दहशत फैलाने की साजिश भी हो।