नवजात को रिलीज करने को ले चिकित्सक संग मारपीट, तोड़फोड़

0
hangama in siwan hospital

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के महादेवा ओपी क्षेत्र के पकड़ी मोड़ समीप एक चिकित्सक के क्लीनिक पर शुक्रवार की दोपहर नवजात बच्ची के परिजन और चिकित्सक कर्मियों के बीच नवजात को रिलीज करने को ले मारपीट हो गई। मारपीट में बच्ची के चाचा के सिर में चोट लगी थी जबकि चिकित्सक के नर्सिंग होम में काम करने वाले कर्मियों को भी आंशिक चोटें आईं थी। इस मारपीट में चिकित्सक के क्लीनिक पर लगी एक नई कार का शीशा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। इधर मामले की जानकारी मिलते ही महादेवा ओपी के पदाधिकारी दलबल के साथ मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल में जुट गए। मामले में दोनों पक्षों के तरफ महादेवा ओपी में आवेदन दिया गया है। नवजात के परिजनों द्वारा बताया गया कि तीन दिन पहले पकड़ी मोड़ समीप डॉ. आरके आर्या के क्लीनिक में आंदर थाना के बलियपुर निवासी राजकुमार कुशवाहा ने अपनी नवजात भतीजी को इलाज के लिए भर्ती कराया। भर्ती कराने के दौरान नवजात की स्थिति नाजुक थी जिसका इलाज चिकित्सक द्वारा किया गया। इलाज के क्रम में चिकित्सक द्वारा लापरवाही बरती गई। इसके बाद शुक्रवार को जब नवजात को रिलीज करने को कहा गया तो चिकित्सक के कर्मियों ने मारपीट की। मारपीट में राजकुमार कुशवाहा के सिर में चोट लगी जिनका इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है। वहीं दूसरी ओर डॉ. आरके आर्या ने बताया कि तीन दिन पूर्व नवजात को इलाज के लिए नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया था। बच्ची की स्थिति नाजुक थी और उसे इलाज द्वारा ठीक कर दिया गया था। शुक्रवार को रिलीज करने के लिए जब बिल दिया गया तो नवजात के परिजन उसे दूध पिलाने के बहाने क्लीनिक से लेकर भागने लगे। यह देख जब कर्मियों ने रोकने का प्रयास किया राजकुमार कुशवाहा ने अपने संग आए हुए लोगों के साथ मारपीट शुरू कर दी। मारपीट के दौरान क्लीनिक में तोड़फोड़ की गई। इसी क्रम में मेरी पत्नी कार में सवार होकर जा रही थी तभी राजकुमार कुशवाहा संग आए लोगों ने गाड़ी के दोनों शीशा को तोड़कर क्षतिग्रस्त कर दिया और पत्नी रीता राज के गले से सोने की चेन जिसकी कीमत 70 हजार के करीब थी छीन लिया और फरार हो गए।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

घायलों में चिकित्सक पक्ष से रीता राज, अभिषेक कुमार, राजन कुमार, सुनील कुमार शरफराज आलम शामिल हैं। जबकि नवजात बच्ची के तरफ से सिर्फ राजकुमार कुशवाहा ही घायल हैं। वहीं खबर प्रेषण तक दोनों पक्षों के आवेदन की पुलिस जांच कर रही थी जबकि प्राथमिकी दर्ज नहीं हो सकी थी।
चिकित्सक का आरोप जातिसूचक कह किया अपशब्द का प्रयोग डॉ. आरके आर्या ने अपने दिए आवेदन में कहा है कि राजकुमार कुशवाहा और उनके साथ आए लोगों ने मारपीट के दौरान मेरे संग भी मारपीट की और जाति सूचक कहकर अपशब्द का प्रयोग किया। इधर दलित चिकित्सक संग मारपीट की जानकारी मिलने के बाद भारतीय बौद्ध महासभा के प्रदेश अध्यक्ष राजेदव बौद्ध चिकित्सक के क्लीनिक पहुंचे और हालचाल जाना।

siwan hospital hamgama

पीड़ित बच्ची के परिजन का आरोप चापाकल के हैंडल से की पिटाई

मारपीट के दौरान घायल हुए राजकुमार कुशवाहा ने सदर अस्पताल में बताया कि चिकित्सक के कर्मियों ने चापाकल के हैंडल से मारपीट की और मेरे सिर पर वार कर दिया। जिससे मैं घायल हो गया।[sg_popup id=”5″ event=”onload”][/sg_popup]