सिवान में सीनियर रिटायर्ड पेशकार के पुत्र की सड़क दुर्घटना में दर्दनाक मौत

0
  • दो अबोध बच्चे के सिर से उठ गया पिता का साया
  • मृतक छपरा जिले के मूल निवासी
  • परिजनों में मचा कोहराम

परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
सिवान जिले के सराय ओपी थाना क्षेत्र के चांप ढाला के टेघड़ा गांव के समीप एक अज्ञात अनियंत्रित ट्रक के चपेट में आ जाने से सिवान सिविल कोर्ट के सीनियर रिटायर्ड  पेशकार के 40 वर्षीय पुत्र की दर्दनाक मौत हो गई। मृतक की पहचान सीनियर रिटायर्ड पेशकार श्री वशिष्ठ नारायण तिवारी के 40 वर्षीय पुत्र अरुण कुमार तिवारी उर्फ संतोष जी तिवारी के रूप में की गई जो महादेवा ओपी थाना क्षेत्र के मालवीय चौक स्तिथ वैध जी के नाम से मशहूर मोहल्ला में वर्तमान समय में अपना निजी घर बनाकर रहते थे।उधर संतोष जी तिवारी की हुई दर्दनाक मौत के बाद उनके परिजनों पर दुखों का पहाड़ टूट कर गिर पड़ा है,परिजनों के हृदय विदारक शिकार पूरा सदर अस्पताल परिसर गूंज उठा है,घटना की सूचना मिलते ही पूरा सदर अस्पताल परिसर में लोगों का जनसैलाब उमड़ पड़ा।क्या बूढ़े,क्या नौजवान सभी लोग अचानक अपना अपना रुख सदर अस्पताल की ओर करते चले आ रहे थे।घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के मुताबिक गुरुवार की दोपहर सीनियर रिटायर्ड पेशकार श्री वशिष्ठ नारायण तिवारी के पुत्र संतोष जी तिवारी बाइक सवार होकर छपरा जिले के एकमा बाजार अवस्थित अपना पानी प्लांट पर जा रहे थे कि इसी बीच विपरीत दिशा से काल क्रूर बनकर आ रही एक अनियंत्रित अज्ञात ट्रक की चपेट में आ गए।आनन फानन में ग्रामीणों के सहयोग से इन्हें इलाज हेतु सिवान सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया,जहां ड्यूटी पर तैनात चिकित्सा पदाधिकारी डॉ मुकेश कुमार रंजन उन्हें मृत घोषित कर दिया।मौके का लाभ उठाकर चालक अपनी गाड़ी लेकर फरार बताया जाता है।उधर घटना की सूचना जैसे ही सराय ओपी प्रभारी तनवीर आलम को लगी तो श्री आलम के दिशा निर्देश के आलोक थाने में पदस्थापित अवर निरीक्षक भगवान तिवारी दल बल के साथ सदर अस्पताल पहुंचे जहां उन्होंने परिजनों का फर्द बयान लेकर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है। इस बाबत सराय ओपी प्रभारी तनवीर आलम ने कहा कि फर्द बयान के आधार पर प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

accident me maut

दो अबोध बच्चे के सिर से उठ गया पिता का साया

sadak durghatna

मृतक संतोष जी तिवारी के सड़क दुर्घटना में हुई दर्दनाक मौत के बाद उनके दो दो अबोध बच्चे के सिर से साया उठ गया। दोनों अबोध बच्चे सदर अस्पताल परिसर में अपने पिता के शव को निहार निहार बिलख रहे हैं।यहां बताते चले कि मृतक के सबसे बड़ा पुत्र शुभ तिवारी (10 वर्ष) है जो शहर के शिष्य पब्लिक स्कूल के छठवीं वर्ग का छात्र है तथा पुत्री मोही तिवारी (5 वर्ष) है,जो निचले वर्ग में ग्रीन एप्पल स्कूल की छात्रा है।पति के मौत के बाद उसकी पत्नी संजू देवी का रोते-रोते बुरा हश्र हो चुका है।घटना के बाद दो अबोध बच्चे समेत उसकी पत्नी बदहवास स्थिति में है।

मृतक छपरा जिले के मूल निवासी

मृतक अरुण कुमार तिवारी उर्फ संतोष जी तिवारी जो छपरा जिले के एकमा थाना अंतर्गत मदनसाठ गांव के रहने वाले थे, इनके पिता श्री वशिष्ठ नारायण तिवारी जो सिवान सिविल कोर्ट में सीनियर पेशकार के रूप में तैनात थे। अवकाश प्राप्त होने के बाद वे अपने पैतृक गांव चले गए।लगभग 25 वर्ष पूर्व इन्होंने अपना मकान महादेवा ओपी थाना अंतर्गत मालवीय चौक स्तिथ वैध जी के नाम से मशहूर मोहल्ला में बनवाई थी,इसी मकान में मृतक अपने पूरे परिवार के साथ रहते थे तथा अपना कारोबार छपरा जिले के एकमा बाजार अवस्थित पानी प्लांट चलाकर अपने परिवार वालों का जीविका चलाते थे।