पटना एम्स में भर्ती हुए कोरोना पॉजिटिव दो बच्चे, वेरिएंट का पता लगाने में जुटे डॉक्टर

0

पटना: कोरोना की तीसरी लहर की आहट मिल रही है. लगातार हजारों नए मामले प्रतिदिन सामने आ रहे हैं। पटना एम्स में कोरोना पॉजिटिव दो बच्चों को भर्ती कराया गया है. एम्स के डॉक्टर इनका इलाज कर रहे हैं. साथ ही कोरोना संक्रमण के वेरिएंट के बारे में भी पता लगाया जा रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
metra hospital

रिपोर्ट्स के मुताबिक पटना एम्स में 24 घंटे के अंदर राजधानी पटना के गोसांई टोला की रहने वाली कोरोना संक्रमित बच्ची की मौत हो गई है. बीते दिन महज 4 साल की एक और बच्ची सिया कुमारी को एम्स में भर्ती कराया गया है. सिया बिहार के छपरा जिले के मिर्जापुर गांव की रहने वाली है. इसका इलाज पहले एक प्राइवेट हॉस्पिटल में चल रहा था. वहां से रेफर होने के बाद सिया को एम्स में लाकर भर्ती कराया गया, जहां इसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई।

एम्स में बिहटा के दिलवारापुर के रहने वाले शिवांशु कुमार का भी इलाज चल रहा है, जिसकी उम्र महज 7 साल है. शिवांशु यहां 31 अगस्त से भर्ती है. कोरोना की तीसरी लहर के खतरे के बीच अस्पताल प्रशासन इसे संभावित केस मान रहा है. बच्ची में कोरोना का कौन-सा वेरिएंट है, इसकी जांच के लिए अभी सैंपल लिया गया है।

पटना एम्स के कोविड वार्ड के नोडल पदाधिकारी डॉ संजीव कुमार ने बताया कि बच्ची को तेज बुखार, खांसी-जुकाम के साथ पेट में पानी भरने की परेशानी है. हालांकि, ऑक्सीजन सैचुरेशन नियंत्रण में है. बच्ची की देखभाल के लिए विशेष टीम लगायी गई है. वायरस के वेरिएंट का पता लगाने के लिए सैंपल लिया गया है. उन्होंने ये भी कहा है कि अभी फिलहाल दो बच्चे ही संक्रमित मिले हैं. इस आधार पर इसे तीसरी लहर की आहट कहना जल्दीबाजी होगी. विशेषज्ञ डॉक्टर बच्चों के मामलों को देख रहे हैं और सभी तरह की रिपोर्ट मिलने के बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचना बेहतर होगा।