प्रदेशों में फंसे प्रवासी मजदूरों को घर वापसी को ले दो दिवसीय भूख हड़ताल

0
perdarshan

परवेज अख्तर/सीवान : प्रवासी मजदूरों को घर वापसी को लेकर भाकपा माले की इकाई इंकलाबी नौजवान सभा (इनौस) व खेत मजदूर सभा (खेमस) के कार्यकर्ताओं द्वारा शनिवार को दरौली प्रखंड के सभी पंचायत के पंचायत भवन व माले के प्रखंड कार्यालय पर दो दिवसीय भूख हड़ताल पर बैठे। कृष्णपाली में माले विधायक सत्यदेव राम, डुमरहर में इनौस के जिला कमेटी सदस्य जगजीतन शर्मा के नेतृत्व में कार्यकर्ता भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं। विधायक सत्यदेव राम ने बताया कि विभिन्न प्रदेशों में बिहार के काफी संख्या में श्रमिक फंसे हुए हैं। उन सभी श्रमिकों को तत्काल सरकार सुरक्षित घर वापसी की गारंटी करें। उन सभी मजदूरों को दस हजार रुपए लाकडाउन राहत भत्ता भुगतान करें। प्रवासी मजदूरों को वेतन और नौकरी की सुरक्षा सुनिश्चित करें। प्रवासी मजदूर जिस स्थान पर फंसे हैं, वहीं पर राशन भोजन की डिलीवरी करें। उन्होंने कहा कि लकडाउन में सरकार गरीबों को मुफ्त राशन देने की घोषणा एकदम फ्लाफ है क्योंकि वास्तविक गरीबों के पास राशन कार्ड नहीं हैं। उन्होंने सरकार से मांग किया कि सभी गरीबों को चिन्हित कर राशन तुरंत दिया जाए । इस अवसर पर शोसल डिस्टेंसींग का पालन करतें हुए ‌‌‌युगुल किशोर ठाकुर, शर्मा यादव, अनिल राम, विरेन्द्र राजभर, गणेश राम, हरेराम राजभर, गोविंद पासवान, विरेन्द्र मांझी, हरेराम राजभर, योगेन्द्र कुशवाहा सहित अन्य भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal