दाहा नदी में डूबने से दो युवकों की मौत, दोनों चचेरे भाई

0

घटना मुफस्सिल थाना क्षेत्र के बिशुनपुर गांव की

एक युवक की 19 घण्टा बाद बरामद, एक कि तलास जारी

परवेज अख्तर/सीवान:- जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के रामपुर विशुनपुर स्थित घाट पर दीपावली को ले पशुओं को धोने गये दो चचेरे भाइयों के दहा नदी में डूबने से मौत हो गयी.घटना के संबंध में मृतक बिशुनपुर निवासी आकाश कुमार के पिता हरेंद्र चौधरी ने बताया कि सभी के यहाँ दीपावली के दिन सफाई करने की परंपरा है .हमलोग इस दिन पशुओं को भी धोते है.रविवार को हम बोले कि पशुओं को नदी में धोने जा रहे है तभी हमारा पुत्र आकाश व मेरे भाई कमलेश(मेहीलाल चौधरी का पुत्र गुड्डू ने कहा कि आप कदम मोड़ से पटाखा ला दीजिये हमलोग पशुओ को धो कर लेते है.वे दोनो चचेरे भाई एक गाय व एक भैंस को लेकर नदी घाट पर चले गये.gaidring इसी दौरान अकाश पशु की धुलाई कर रहा था कि उसका पैर पिसल जाने के कारण नदी के गहरे पानी मे जा गिरा.अपने चचरे भाई के बचने गये कमलेश(मेहीलाल चौधरी) के पुत्रभी डूब गया.और दोनो की मौत हो गयी.नदी किनारे एक मछली पकड़ रहा युवक ने हल्ला करना शुरू कर दिया .इस सारी घटना को युवक ने परीजनो को बताया.घटना रविवार की दोपहर 1:30 बजे की बतायी जा रही है.घटना के बाद स्थानीय चौकीदार द्वारा घटना की सूचना मुफस्सिल थाना को दी गयी.जिसके बाद सदर प्रखंड विकास पदाधिकारी अमरेंद्र कुमार व मुफस्सिल थेन की पुलिस अपने दलबल केसाथ घटना स्थल पर पहुँच मामले की जांच में जुट गयी.डूबने की सूचना पूरे क्षेत्र में पसर गया जसके बाद नदी घाट पर लोगों का जमावड़ा शुरू हो गया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

एक ही परिवार के है दोनों युवक

दोनो मृतक एक ही परिवर के है.इधर मौत के बाद परिजनों का रो रो कर बुरा हाल हो गया है. दोनो मृतको की माँ अपने आने पुत्र के याद में अचेत हो जा रही थी.

पांच भाई थे मृतक

मृतक आकाश तीन भाइयों में दूसरा नंबर था जो नौंवा वर्ग का विद्यार्थी था.आकाश के पिता हरेंद्र चौधरी गांव में ही रह कर दूध बेचने का काम करते है.वही मृतक गुड्डू दो भाइयों में में सबसे बड़ा था. जो मैट्रिक में पढ़ाई करता था.इसके पिता बिदेश में रह कर मजदूरी करते है.

19 घण्टे बाद मिली आकाश की शव

गोताखोरों की काफी खोज बिन के बाद हरेंद्र यादव के 14 वर्षीय पुत्र का शव 19 घण्टे बाद विशुनपुर स्थित स्टेट बोरिंग के पास से बरामद कर लिया गया. जिसके बाद गोताखोर गुड्डू की तलाश में जुटी हुई है।

24 घण्टे बाद भी नही मिला दूसरे भाई का सुराग

दाहा नदी में डूबने के 24 घण्टे बाद भी नही मिला मृतक आकाश के बाड़े भाई गुड्डू कुमार का सुराग.गोताखोर व प्रशासन की टीम ने दिन भर नदी में खोज बिन किया.नही मिलने के बाद अंत मे वापस लौट गये.