अनियंत्रित कार ने पेड़ में मारी टक्कर चार घायल

0
accident

सामने से आ रही बाइक को बचाने के चक्कर में ड्राइवर ने खोया आप, रुई दुकान में घुसते हुए पेड़ में जा टकराया

मौके पर पहुंच नगर थाना पहुंच पुलिस कार को लिया हिरासत में, सभी घायलों का सदर अस्पताल में चल रहा है इलाज

परवेज अख्तर /सिवान : सामने से आ रही बाइक को बचाने के चक्कर में अनियंत्रित कार पेड़ में जा टकराई जिससे चार लोग घायल हो गए। बता दें कि घटना सिवान-सिसवन मुख्य मार्ग पर सिसवन ढाला के पास की है। जब सिसवन के तरफ से तेज गति से आ रही कार एवं दूसरी तरफ से सामने से जा रही बाइक को बचाने के चक्कर में कार चालक आपा खो बैठा और कार अनियंत्रित होकर सड़क किनारे एक रुई दुकान होते हुए पेड़ से जा टकराई। इस दौरान कार सवार समेत चार लोग घायल हो गए। आनन-फानन में स्थानीय लोगों ने घायलों को इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया जहां उनका इलाज चल रहा है। मामला के बारे में बता दे की सिसवन थाना क्षेत्र के चांदपुर निवासी सत्यनारायण सिंह अपने मां एवं पत्नी के साथ मां के इलाज के लिए सिवाना रहे थे। जैसे ही वे सिसवन ढाला के पहुंचे थे की सामने से एक बाइक अचानक आ गई जिस को बचाने के चक्कर में ड्राइवर ने आपा खो बैठा और कार को पेड़ में टक्कर मार दिया हालांकि इस दौरान कार ड्राइवर फरार हो गया। कार से हुए हादसे में सत्यनारायण सिंह, रामाशंकर पासवान, धर्मेंद्र कुमार एवं दिवाकर कुमार घायल हो गए। बता दे कि घायलों में कार सवार में से एक है जो आगे की सीट पर बैठे थे एवं उनकी खुद की कार है। इसके अलावा दुकान के पास खड़े तीन अन्य लोगों को कार ने कुचल दिया। जिसमें प्रभुनाथ सिंह के स्टाफ रामाशंकर पासवान को गंभीर चोट लगी है एवं उसके पैर का नस पूरी तरह फट गया है जिसमे इट कंकड़ घुस गया है। वही दूसरा घायल हुसैनगंज थाना क्षेत्र के धर्मेंद्र कुमार है जो सिवान से पढ़ कर घर जा रहा था। एवं लक्ष्मीपुर निवासी दिवाकर कुमार को भी गंभीर चोट आइ है जिनका इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है।

आ रहे थे मां का इलाज कराने खुद पहुंचे अस्पताल

सत्यनारायण सिंह अपने मां चंद्रकला देवी का इलाज कराने सिवान आ रहे थे। लेकिन किस्मत को कुछ और मंजूर था। मां को इलाज कराने के बजाय वह खुद सदर अस्पताल में इलाजरत है। बूढ़ी मां चंद्रकला देवी का रो-रो कर बुरा हाल हो गया था। उन्होंने बताया कि सुबह से ही जी मिचला रहा था मैंने मना भी किया कि आज छोड़ दो कल चला जाएगा लेकिन उसने नहीं मानी एवं इलाज के लिए सिवान ला रहा था। घायल सत्यनारायण सिंह ने बताया कि कुछ रोज़ पूर्व मां का हाथ टूट गया था जिसका इलाज डॉ एसके सिंह के यहां चल रहा था उन्हीं से दिखाने के लिए वह घर से आ रहे थे। लेकिन खुदा को कुछ और मंजूर था उन्होंने बताया कि पीछे बैठी मां एवं पत्नी सुरक्षित है एवं ड्राइवर गाड़ी छोड़ फरार हो गया।

सदर अस्पताल में इलाज के लिए तड़प रहे थे मरीज

कार से हुई दुर्घटना में चार लोग घायल हो गए जिन्हें इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया। लेकिन सदर अस्पताल में भीड़ एवं कर्मचारियों की कमी की मार मरीजों को सहना पड़ रहा है। चोट से कराह रहे मरीजों को इलाज के लिए सदर अस्पताल में तड़पना पड़ रहा था। अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में जब सभी घायल पहुंचे तो भीड़ काफी ज्यादा थी और मरीज इलाज के लिए तड़प रहे थे लेकिन इमरजेंसी वार्ड में कर्मचारियों की कमी के वजह से मरीजों को तड़पना पड़ रहा था। इतना ही नहीं इमरजेंसी वार्ड में बेड नहीं खाली होने के कारण मरीजों को फर्श पर ही बैठे इलाज कराना पड़ा था।