सिसवन में अनियंत्रित कार ने चार को रौंदा, एक वृद्ध की मौत, तीन घायल

0

परवेज़ अख्तर/सिवान: जिले के सिसवन थाना क्षेत्र के गुदरी हाता गांव स्थित सिसवन रघुनाथपुर मुख्य सड़क पर हुई सड़क हादसे में एक वृद्ध की मौत हो गई. यह घटना गुरुवार के शाम 6:45  की है. मिली जानकारी के मुताबिक गुदरी हाता गांव निवासी 58 वर्षीय रामसकल देव यादव अपने द्वार से मुख्य सड़क पार कर रहे थे इसी दरमियान रघुनाथपुर से सिसवन के तरफ तेज गति में जा रही एक अनियंत्रित कार ने वृद्ध को रौंदते हुए सिसवन के तरफ भाग निकला हालांकि तीन लोग और कार के चपेट में आने से घायल हो गए तब आसपास के लोग व परिजनों ने आनन-फानन में रेफरल अस्पताल ले गए जहां डाक्टरों ने वृद्ध राम सकलदेव यादव को मृत घोषित कर दिया, वह घायल राजेंद्र यादव, ब्रजकिशोर यादव, परमात्मा यादव का इलाज रेफरल अस्पताल में कराया गया. इधर सड़क दुर्घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने शुक्रवार की सुबह सिसवन रघुनाथपुर मुख्य मार्ग पर गुदरी हाता गांव के समीप शव को रख सड़क जाम कर दिया वह अधिकारियों को बुलाने, अज्ञात वाहन के विरुद्ध प्राथमिकी के साथ-साथ आपदा राहत कोष से मुआवजे की मांग को लेकर अड़ गये.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

इधर सड़क जाम की खबर सुन सिसवन थानाध्यक्ष कुमार वैभव बीडिओ नीलम दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे वह आक्रोशित ग्रामीणों को समझा-बुझाकर शांत कराया वह मुख्यमंत्री परिवहन योजना के तहत मिलने वाली आर्थिक सहायता के रूप में बीडिओ ने पीड़ित परिजनों को बीस हजार रुपये वह स्थानीय मुखिया बलराम सिंह ने कबीर अंत्येष्टि के तहत तीन हजार रूपये की सहायता दी. इसके अलावा सीवान सांसद पति अजय सिंह पहुंच परिजनों का हालचाल लिया.इधर भाकपा माले एवं दरौली के पूर्व विधायक अमरनाथ यादव ने अपने सहयोगियों के साथ पहुंच पीड़ित परिजनों का हाल-चाल लिया वह घटना की जानकारी ली वह पीड़ित परिजनों को मुआवजे के लिए सिवान एसडीओ से भी बात की अधिकारियों द्वारा मिली आश्वासन के बाद सिसवन पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर अंन्तःनिरीक्षण के लिए सिवान सदर अस्पताल भेज दिया. इधर मृतक के पत्नी राजमुनि देवी का रो रो कर बुरा हाल था वह मृत के चार पुत्र विक्रमा यादव, ओसीहर यादव, ठेकेदार यादव, विश्वकर्मा यादव पिता की मौत के बाद काफी रो रहे थे. मौके पर मुखीया ओमप्रकाश यादव, श्री भगवान यादव, ब्यास यादव, टुनटुन यादव, राजद जिला सचिव राजेश्वर यादव, अवधेश चौहान सहित दर्जनों लोग पहुंच पीड़ित परिजनों का ढ़ाढ़स बढ़ाने में लगे हुए थे.