कोविड-19 के वैक्सीन आने तक सतर्कता ही बचाव है, बरते सावधानी

0
  • घबराने की बजाए जागरूक होना जरूरी है
  • लक्षण दिखें तो कराएं कोविड-19 का जांच
  • सभी अस्पतालों में नि:शुल्क उपलब्ध कोरोना जांच की सुविधा

छपरा: मौसम बदल रहा है। ऐसे में सर्दी-जुकाम और सामान्य फ्लू होना आम बात है। लेकिन अब इस कोरोना संक्रमण ने सभी लोगों के मन में डर का माहौल पैदा कर दिया है। हर कोई इस वायरस से बचने के उपाय अपनाना चाहता है, लेकिन डर का माहौल है। हल्की खांसी या जुकाम में भी लोग डर रहे हैं, क्योंकि कोरोना वायरस के लक्षण भी सामान्य वायरल जैसे ही हैं, सर्दी, नाक बहना, खांसी, बुखार आदि। इस वजह से भी इस बीमारी को पहचानना मुश्किल हो रहा है। फिलहाल इसका वैक्सीन नहीं आया है। तब तक सतर्कता हीं इसका बेहतर इलाज है। ऐसे में घबराने की बजाए जागरूक होना जरूरी है। अगर इस तरह का लक्षण दिखें तो कोरोना जांच जरूर कराएं। जिले के सभी अस्पतालों को कोरोना नि:शुल्क जांच किया जा रहा है। इसके अलावा चौक चौराहों, रेलवे स्टेशन व पंचायत स्तर पर कैंप लगाकर कोरोना का जांच किया जा रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads

हाथ धोइए क्योंकि इसी से होगा बचाव

सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने बताया हाथ धोना कोरोना वायरस को भगाने का सबसे आसान तरीका है। विश्व स्वास्थ्य संगठन और सभी बड़े वैज्ञानिक बार- बार यही बात कह रहे हैं कि कोरोना वायरस को दूर भगाने के लिए अपने हाथों को अच्छी तरह से साफ करें और सफाई का पूरा ख्याल रखें। दिनभर में जितनी बार हो सके हाथों को साबुन-पानी से अच्छी तरह से धोएं।

आंख, नाक और मुंह में हाथ लगाने से बचें

कोरोना वायरस संक्रमण से बचने का बेहद आसान तरीका यही है कि बार-बार अपनी नाक, आंख और मुंह में हाथ लगाने से बचें। दरअसल अगर किसी संक्रमित जगह को छू लिया हो तो और उसके बाद अपने चेहरे को हाथ लगाएंगे तो जाने-अनजाने में खुद ही उस वायरस को शरीर में प्रवेश करा सकते हैं।

सार्वजनिक परिवहन में सफर करते वक्त बरतें सावधानी

पब्लिक ट्रांसपोर्ट खासकर ट्रेन, टेंपो और बसों में सफर कर रहे हैं तो अपने चेहरे को मास्क से ढककर रखना बेहतर है। किसी सर्दी-खांसी वाले व्यक्ति के आसपास खड़े होने से बचें। हो सके तो पब्लिक ट्रांसपोर्ट में भी शारीरिक दूरी को बनाए रखें।

कोविड अनुरूप आचरण अपनाकर रखें खुद को संक्रमण से सुरक्षित

कोविड अनुरूप आचरण अपनाकर खुद को संक्रमण से बचाया जा सकता है। स्वास्थ्य एंव परिवार कल्याण मंत्रालय के गाइडलाइंस में घर से बाहर भीड़ वाले स्थानों जैसे डेयरी, अस्पताल या दवाई दुकान या ऐसी ही अन्य जगहों पर कम से कम 6 फीट या 2 गज की शारीरिक दूरी रखने के लिए कहा गया है। कार्यस्थलों पर भी इन नियमों के पालन करने के लिए कहा गया है। साथ ही मास्क के इस्तेमाल पर ज़ोर दिया गया है। मास्क संक्रमण की संभावना या श्वसन संबंधी रोगों की रोकथाम के लिए महत्वपूर्ण है। हाथों की साबुन अथवा हैण्डवाश से नियमित सफाई की बात भी गाइडलाइन में बताई गयी है।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here