बड़हरिया में जमीनी विवाद को लेकर हिंसक झड़प, एक महिला की दर्दनाक मौत

0
  • परिजनों व ग्रामीणों ने लगाया अंचलाधिकारी पर कई गंभीर आरोप
  • अंचलाधिकारी जनता दरबार के नाम पर करते हैं सिर्फ खानापूर्ति

✍️ परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
इन दिनों सिवान जिले के संपूर्ण इलाकों में जमीनी विवाद को लेकर गोली मार निर्मम हत्या…. जमीनी विवाद को लेकर पीट-पीटकर निर्मम हत्या …..जमीनी विवाद को लेकर अपहरण कर निर्मम हत्या करने का सिलसिला लगातार जारी है।जिसके चलते लंबित पड़े जमीनी विवाद के मामले वाले पीड़ितों में दहशत का माहौल कायम है। इसके बावजूद भी जिला प्रशासन की ओर से लंबित पड़े जमीनी विवाद के कांडों का निष्पादन करने में कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है।हालांकि बिहार सरकार के पटना में आयोजित सभी उच्च स्तरीय मीटिंग में बिहार स्तर के आला प्रशासनिक पदाधिकारी का सीधे तौर पर लंबित पड़े जमीनी विवाद के निपटारा करने पर जोर दिया जाता है।लेकिन उनका यह फरमान पटना तक हीं सीमित रह जाती है।उनका फरमान जिले के संपूर्ण हिस्सों में नहीं पहुंच पाता है। यहां गौर करने की बात तो यह है की जिले के विभिन्न अंचलों में लगातार हो रही जनता दरबार से भी जमीनी विवाद में पड़े लंबित कांडों का सही तरीका से निष्पादन नहीं हो पा रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

WhatsApp Image 2021 11 13 at 10.06.49 AM

जिसके चलते सिवान के संपूर्ण इलाकों में लगातार जमीनी विवाद में हत्याएं होती जा रही है और जिला प्रशासन के दिशा निर्देश के आलोक में हो रही सिवान के विभिन्न अंचलों में जनता दरबार से आम जनमानस को कोई लाभ नहीं मिल पा रहा है।कई जगहों पर सीधे तौर पर जमीनी विवाद को लेकर जनता दरबार के प्रमुख यानी अंचलाधिकारी पर भी गंभीर आरोप भी लगाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में रविवार को सिवान जिले के बड़हरिया थाना क्षेत्र के सहबाचक गांव में रविवार को एक गरमजूरवा जमीन पर झोपड़ी रखने को लेकर हुई हिंसक झड़प में एक महिला की दर्दनाक मौत हो गई।महिला की हुई दर्दनाक मौत से गांव में अफरा-तफरी का माहौल कायम के साथ-साथ सनसनी भी फैल गई। इस दौरान बड़हरिया अंचलाधिकारी पर परिजनों तथा ग्रामीणों द्वारा कई गंभीर आरोप प्रत्यारोप भी लगाए गए।मृत महिला की पहचान सहबाचक गांव निवासी लालदेव यादव की 34 वर्षीय पत्नी ज्ञानती देवी के रूप में की गई।

WhatsApp Image 2021 11 13 at 10.06.48 AM

परिजनों तथा ग्रामीणों का आरोप था कि इस मामले को लेकर लगातार कई महीनों से मृतिका के परिजन अंचल कार्यालय का चक्कर लगाते लगाते थक गए थे।इसके बावजूद भी इस मामले का निपटारा बड़हरिया अंचलाधिकारी द्वारा नहीं किया गया।जिस कारण रविवार को इतनी बड़ी घटना घटित हो गई।ग्रामीणों के अनुसार रविवार की सुबह साढ़े छः बजे मृतक के पट्टीदार रामचंद्र  यादव,राजकिशोर यादव,अवधेश यादव के परिजनों से गांव स्थित गरमजूरवा जमीन में झोपड़ी रखने को लेकर लेकर विवाद हो गया।जिसमें एक पक्ष के लोगों ने महिला को लाठी डंडे से सिर पर ताबातोड़ जानलेवा हमला कर दिया।जिससे महिला की दर्दनाक मौत घटनास्थल पर हीं हो गई।वहीं मृतिका के पुत्र अरुण कुमार भी गंभीर रूप से घायल हो गए।उधर घटना की सूचना पाकर बड़हरिया थाना में पदस्थापित एसआई राजेश कुमार दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे।जहां पंचनामा के आधार पर लाश को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सीवान सदर अस्पताल भेज दिया।

मृत महिला की लाश पहुंचते हीं गांव में पसरा मातमी सन्नाटा

जैसी हीं मृतिका की लाश पोस्टमार्टम के बाद उसके पैतृक गांव सहबाचक पहूंचा तो गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया।मृतक के परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। मृतक के पति लालदेव यादव जो केरल में रहकर मजदूरी का काम करते हैं।मृतिका के तीन पुत्र और एक पुत्री है। जिसमें सबसे बड़ा भाई मुकेश यादव, मुन्ना यादव,अरुण कुमार और पुत्री निशु कुमारी है।जिसमें बड़ा पुत्र मुकेश कुमार जो विदेश में नौकरी करता है।मुन्ना यादव अपने पिता लालदेव यादव के साथ केरल में रहकर पिता का सहारा बना हुआ है।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here